ख़बर जहां, नज़र वहां

बिहार विधानसभा मे अफरातफरी का माहौल, प्रदर्शनकारी वार्ड सचिवों पर लाठीचार्ज,

बिहार विधानसभा का घेराव करने पहुंचे राज्यभर पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया इस बीच अफरातफरी का माहौल बना रहा और जेपी गोलंबर एक घंटे तक छावनी में तब्दील रहा
बिहार विधानसभा मे अफरातफरी का माहौल, प्रदर्शनकारी वार्ड सचिवों पर लाठीचार्ज,

पटना. बिहार विधानसभा का घेराव करने पहुंचे राज्यभर पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया इस बीच अफरातफरी का माहौल बना रहा और जेपी गोलंबर एक घंटे तक छावनी में तब्दील रहा. स्थायी मानदेय की मांग को लेकर राज्यभर के सैकड़ों वार्ड सचिव विधानसभा का घेराव करने पहुंचे थे, लेकिन अनुमति न रहने की वजह से पुलिस ने जेपी गोलंबर के पास ही सबको रोक दिया. इस दौरान बैरिकेडिंग तोड़ने का वार्ड सचिवों ने प्रयास किया, तभी भारी संख्या में मौजूद पुलिसबल ने वाटर कैनन चलाने के साथ लाठीचार्ज कर दिया.. जिसमें 20 से ज्यादा लोग घायल हो गए. इसमें कुछ महिलाओं को भी चोट लगी है. वार्ड सचिव जिस तरह से प्रदर्शन कर रहे थे और उनकी मंशा विधानसभा तक पहुंचने की थी, लेकिन पुलिस ने उसे विफल कर दिया.

प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज के दौरान पटना पुलिस का बर्बर चेहरा सामने आया. वार्ड सचिवों की बेरहमी से पिटाई की गई और घायलों को अपने हाल पर छोड़ दिया गया. लाठीचार्ज में 20 से ज्यादा वार्ड सचिव घायल हो गए.  यहां तक कि महिलाओं को भी नहीं बख्शा गया.

लाठीचार्ज के बाद पुलिसकर्मी से लेकर अधिकारी तक गायब हो गए. घायलों को अस्पताल पहुंचाने के लिए एक एम्बुलेंस तक की व्यवस्था नहीं की गई. वार्ड सचिवों का आरोप है कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन के दौरान जब वाटर कैनन चलाया गया तो फिर हटने के लिए मौका क्यों नहीं मिला, अचानक लाठीचार्ज कर दिया गया.

गांधी मैदान में सैकड़ों की संख्या में जुटे वार्ड सचिवों ने जमकर प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इस दौरान स्थानीय थाने की पुलिस भी पहुंची. वार्ड सचिवों ने प्रदर्शन के दौरान कोरोना के नियमों का जमकर उल्लंघन किया. सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गईं. बिना मास्क के लोग घंटों प्रदर्शन करते रहे. पुलिस समझाने का प्रयास करती रही, लेकिन वे नहीं माने.

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News