ख़बर जहां, नज़र वहां

पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला का बयान, विशेष दर्जे की बहाली के लिए हम प्रतिबद्ध

लेकिन विकास कहीं नजर नहीं आ रहा है. उल्टा बेरोजगारी चरम पर पहुंच गई है. युवाओं से रोजगार के अवसर छीन लिए गए हैं. आपको बता दें कि भाजपा सरकार ने जो वादे 5 अगस्त 2019 के फैसले के मद्देनजर किए थे. वे सारे झूठे साबित हुए हैं.
पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला का बयान, विशेष दर्जे की बहाली के लिए हम प्रतिबद्ध

नई दिल्लीः पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने जनता को संबोधित करते हुए झूठे वादों के आधार पर जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के लिए भाजपा की कड़ी आलोचना की. वहीं पूर्व मुख्यमंत्री बुधवार को चिनाब घाटी के अपने आठ दिवसीय दौरे के दौरान डाक बंगला भद्रवाह में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे.

जहां उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान श्रीनगर से 40 बंकर हटा दिए गए थे. जिन्हें भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने फिर से स्थापित किया था. एक तरफ सरकार ने दावा किया कि अनुच्छेद 370 और 35ए के हटने के बाद विकास का नया युग आएगा.

लेकिन विकास कहीं नजर नहीं आ रहा है. उल्टा बेरोजगारी चरम पर पहुंच गई है. युवाओं से रोजगार के अवसर छीन लिए गए हैं. आपको बता दें कि भाजपा सरकार ने जो वादे 5 अगस्त 2019 के फैसले के मद्देनजर किए थे. वे सारे झूठे साबित हुए हैं.

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News