ख़बर जहां, नज़र वहां

IIT हैदराबाद-कानपुर के एक्सपर्ट्स का दावा, कोरोना के तीसरी लहर का अक्टूबर में होगा पीक

संक्रमण की दूसरी लहर के बाद सबके मन में बस एक सवाल की तीसरी लहर कब आएगी? इस बीच नई भविष्यवाणी सामने आई है
IIT हैदराबाद-कानपुर के एक्सपर्ट्स का दावा, कोरोना के तीसरी लहर का अक्टूबर में होगा पीक

 नई दल्ली: संक्रमण की दूसरी लहर के बाद सबके मन में बस एक सवाल की तीसरी लहर कब आएगी? इस बीच नई भविष्यवाणी सामने आई है. जिसमें दावा किया गया है कि भारत में कोरोना की तीसरी लहर इसी महीने यानी अगस्त में ही आ सकती है. वहीं अक्टूबर में तीसरी लहर चरम पर होगी.

सोमवार को सामने आए 40 हजार से ज्यादा नए कोरोना केस

फिलहाल भारत समेत कई देशों में कोरोना के डेल्टा वैरिएंट की वजह से कोरोना के केस बढ़ रहे हैं. सोमवार की बात करें तो भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 40,134 नए मामले आए, 36,946 रिकवरी हुईं और 422 लोगों की कोरोना से मौत हुई. देश में अबतक कुल 3,16,95,958 कोरोना मामले सामने आए. इसमें से 4,13,718 केस एक्टिव हैं. वहीं 3,08,57,467 लोगों ने कोरोना को हराया है. देश में 4,24,773 लोगों ने कोरोना की वजह से जान गंवाई

आईआईटी हैदराबाद और कानपुर की रिपोर्ट

कोरोना को लेकर यह ताजा भविष्यवाणी शोधकर्ताओं ने गणित के मॉडल के आधार पर की है. इसमें आईआईटी हैदराबाद और कानपुर के मधुकुमल्ली विद्यासागर और मनिंद्र अग्रवाल शामिल थे. कोरोना की दूसरी लहर को लेकर इनका अंदेशा सटीक बैठा था.

शोधकर्ता कहते है कि कोरोना को घातक होने से रोकने के लिए टीकाकरण की स्पीड को तेज करना होगा. बता दें कि देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस की 17,06,598 वैक्सीन लगाई गईं, जिसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 47,22,23,639 हो गया है. खबर के मुताबिक, शोधकर्ताओं का मानना है कि कोरोना की तीसरी लहर दूसरी लहर जितनी घातक तो नहीं होगी लेकिन फिर भी सावधानी बरतनी होगी. बताया गया है कि इसमें रोज कोरोना के नए एक-एक लाख केस देखने को मिल सकते हैं. स्थिति थोड़ी और बिगड़ी को आंकड़ा 1.5 लाख तक जा सकता है. दूसरी लहर में भारत में रोज 4 लाख से भी ज्यादा केस सामने आए थे. फिर 7 मई के बाद कोरोना केस धीरे-धीरे कम होने लगे थे. शोधकर्ता मानते हैं

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News