ख़बर जहां, नज़र वहां

मकर सक्रांति पर ये ना करे 5 काम , वरना होगा बुरा परिणाम

मकर सक्रांति पर ये ना करे 5 काम , वरना होगा बुरा परिणाम

मकर सक्रांति पर जहां एक ओर दान-पुण्‍य की महिमा का गुणगान होता है, वहीं दुसरी और इसके चलते कुछ काम करना भारी पड़ सकता है। जानें कौनसे कामो को करने से बचना चाहिए .

 

मकर संक्रति का पर्व 14 जनवरी 2018 को मनाया गया है। इस बार ये त्‍योहार दो दिन मनाया गया । 14 जनवरी की दोपहर 1:47 बजे सूर्यदेव का प्रवेश मकर राशि में होगा। इसके बाद 15 जनवरी को संक्रांति सुबह 5:11 बजे तक रहेगी। 

खत्‍म होगा खरमास, शुरू होंगे सारे शुभ काम 
मकर संक्रांति पर सूर्यदेव दक्षिणायन से उत्तरायण की ओर आते हैं और इसके बाद खरमास समाप्‍त होता है। बता दें की खरमास में कोई भी मांगलिक काम नहीं किए जाते हैं लेकिन जैसे ही ये समय खत्म होते ही तमाम शुभ काम का योग शुरू हो जाता है। वहीं शास्त्रों में उत्तरायण के समय को देवताओं का दिन तथा दक्षिणायन को देवताओं की रात कहा गया है। इस तरह मकर संक्रांति एक तरह से देवताओं की सुबह मानी जाती है।

 

संक्रांति दान का क्यों है महत्‍व 
मकर संक्रांति के दिन स्नान, दान, जप, तप, श्राद्ध तथा अनुष्ठान का बहुत बड़ा महत्व है। इस मौके पर किया गया दान सौ गुना होकर वापस फलीभूत होता है। मकर संक्रान्ति के दिन घी-तिल-कंबल-खिचड़ी दान का खास महत्व है। हालांकि इस दिन राशि अनुसार दान करने की महिमा ज्‍यादा है। सक्रांति में सूर्य के मकर राशी में प्रवेश का असर हर राशी पर अलग होता है। 

लेकिन मकर संक्रांति पर ये काम ना करें 

1-इस दिन पुण्यकाल में दांत मांजने या बाल धोने से बचना चाहिए। 

2-इस दिन फसल कटई करने और गाय या भैंस का दूध निकालने जैसा कोई काम नहीं करना चाहिए।

3- पुण्य कार्य के दौरान किसी से भी गलत बोलना अच्छा नहीं माना जाता है।

4- साथ ही इस दौरान किसी भी वृक्ष को नहीं काटना चाहिए  

5- वहीं इस दिन मांस और शराब के सेवन से भी बचना चाहिए। खिचड़ी या सात्‍व‍िक भोजन करना और कराना चाहिए।

Leave Your Comment
Related News