ख़बर जहां, नज़र वहां

कोवैक्सीन पर अब तक हुए शोध के डेटा जारी, सवालों पर लगेगा विराम

हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटेक ने कोवैक्सीन के लिए किए गए अब तक के पूरे रिसर्च का डेटा शेयर किया है.
कोवैक्सीन पर अब तक हुए शोध के डेटा जारी, सवालों पर लगेगा विराम

हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटेक ने कोवैक्सीन के लिए किए गए अब तक के पूरे रिसर्च का डेटा शेयर किया है. उसने बताया कि तीसरे चरण के मानव परीक्षण का डेटा जल्द ही जारी किया जाएगा. कंपनी के बयान के मुताबिक, उसने तीसरे चरण के परीक्षण का आंशिक डेटा के साथ पहले और दूसरे चरण के मानव परीक्षण का पूरा डेटा साझा किया है.

भारत बायोटेक ने कोवैक्सीन का पूरा डेटा किया शेयर

कंपनी के अधिकारियों ने जानकारी दी कि कोवैक्सीन के सभी रिसर्च डेटा की भारत में नियामकों की तरफ से गहन जांच पड़ताल की गई है. भारत बायोटेक ने अपनी कोविड-19 वैक्सीन पर 12 महीनों में हुए नौ रिसर्च रिपोर्ट का प्रकाशन किया है. अपने बयान में भारत बायोटेक ने दावा किया कि भारत में मानव परीक्षण के कोवैक्सीन का डेटा प्रकाशित होने वाला एकमात्र प्रोडक्ट है, और भारतीय आबादी के लिए उसका प्रभावी डेटा है. प्रकाशित डेटा के बारे में जानकारी साझा करते हुए भारत बायोटेक ने वादा किया कि तीसरे चरण के  मानव परीक्षण के अंतिम नतीजे जल्द ही जारी होंगे.

तीसरे चरण का डेटा जल्द जारी होने की जताई उम्मीद

अंतिम विश्लेषण में प्रभावकारिता और सभी विषयों पर दो महीने के सुरक्षा फॉलोअप की जरूरत होती है. गौरतलब है कि कंपनी का ये बयान अमेरिका में कोवैक्सीन की आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी रद्द होने के एक दिन बाद आया है, जिससे उस देश में कंपनी की वैक्सीन के लॉन्च होने में देरी होगी. भारत बायोटेक की अमेरिकी साझेदार ओक्यूजेन इंक ने कहा है कि कंपनी कोवैक्सीन के लिए अब पूरी मंजूरी मांगेगी. कोवैक्सीन भारत की घरेलू कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीन है, और भारत में सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड के साथ 16 जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण अभियान का हिस्सा रही है. भारत बायोटेक ने शनिवार को कहा है कि कंपनी कोवैक्सीन के लिए बाजार संबंधी आवेदन का समर्थन करने के लिए अमेरिका में मानव परीक्षण करेगी. कंपनी की तरफ से साझा की गई सूचना के मुताबिक, तीसरे चरण के मानव परीक्षण में 25,800 वॉलेंटियर को शामिल किया गया है. 

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News