ख़बर जहां, नज़र वहां

बजट सत्र : अगर सरदार पटेल पहले पीएम होते तो पूरा कश्मीर हमारा होता -पीएम मोदी

Budget session: If Sardar Patel was the first PM, then Kashmir would be ours - PM Modi
बजट सत्र : अगर सरदार पटेल पहले पीएम होते तो पूरा कश्मीर हमारा होता -पीएम मोदी

नई दिल्ली : बजट सत्र में राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद धन्यवाद प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा में जवाब दे रहे हैं। इस दौरान विपक्षी सांसद लगातार हंगामा कर रहे हैं। हंगामे में टीडीपी के सांसद भी शामिल हैं। हालांकि प्रधानमंत्री मोदी हंगामे के बावजूद अपना जवाब दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि सदन में सार्थक चर्चा होनी चाहिए। पीएम ने कहा कि राष्ट्रपति का अभिभाषण किसी पार्टी का नहीं होता है और उसका सम्मान होना चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि जब हम नए राज्‍यों के निर्माण की बात करते हैं तो हमें उन तौर-तरीकों को याद करना चाहिए जिस तरह अटल बिहारी वाजपेयीजी ने उत्‍तराखंड, झारखंड और छत्‍तीसगढ़ का निर्माण किया था। उन्‍होंने दिखाया था कि कैसे दूरदर्शी फैसला लिया जाता है।गौरतलब है कि राष्ट्रपति के अभिभाषण पर राज्यसभा में बहुमत का गणित एनडीए सरकार के लिए एक बार फिर सियासी सिरदर्दी बन सकता है। राज्यसभा में बोलने का मौका नहीं देने से नाराज विपक्षी पार्टियां राष्ट्रपति अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर संशोधन पारित करने की रणनीति पर गंभीर हैं। विपक्षी दलों की ओर से पहले ही अभिभाषण में 300 से ज्यादा संशोधन के प्रस्ताव सदन में पेश किए जा चुके हैं।

कल से शुरू हुई चर्चा

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर सदन में कल मंगलवार को चर्चा हुई। प्रधानमंत्री के जवाब के बाद आज प्रस्ताव को सदन में पारित कराया जाएगा जहां भाजपा नीत सरकार को बहुमत है। सूत्रों ने बताया कि सरकार गुरुवार को कुछ महत्वपूर्ण विधेयक पेश कर सकती है. लोकसभा में कल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘पकौड़े बेचने वालों’ से संबंधित टिप्पणी का मुद्दा प्रमुखता से उठा। विपक्षी दलों ने जहां इस बयान को लेकर रोजगार के मुद्दे पर सरकार को कटघरे में खड़ा करने का प्रयास किया, वहीं भाजपा ने आरोप लगाया कि विपक्षी दल ‘पकौड़े बेचने वालों’ का अपमान कर रहे हैं। जपा सदस्य प्रह्लाद जोशी ने इस संदर्भ में एक इंजीनियरिंग स्नातक का उदाहरण दिया जिन्होंने ऐसा अल्पाहार बेचकर पैसा कमाया। इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कल राज्यसभा में कहा था कि बेरोजगार रहने से अच्छा है, पकौड़ी बेचकर आजीविका चलाना।

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News