ख़बर जहां, नज़र वहां

बंगाल की गैंगरेप पीड़िताओं ने किया SC का रुख,टीएमसी कार्यकर्ताओं पर लगाए हैं आरोप

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के बाद भड़की हिंसा के दौरान कई जगहों पर बीजेपी के कार्यकार्ताओं की कथित तौर पर हत्‍याएं हुईं.
बंगाल की गैंगरेप पीड़िताओं ने किया SC का रुख,टीएमसी कार्यकर्ताओं पर लगाए हैं आरोप

नई दिल्‍ली: पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के बाद भड़की हिंसा के दौरान कई जगहों पर बीजेपी के कार्यकार्ताओं की कथित तौर पर हत्‍याएं हुईं. ऐसे ही दो बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवार ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था. इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सख्‍ती दिखाई थी और राज्‍य सरकार से रिपोर्ट मांगी थी. अब इसके बाद बड़ी संख्‍या में उन महिलाओं ने न्‍याय के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है, जिन्‍होंने अपने साथ गैंगरेप होने का आरोप लगाया है. इसके साथ ही उन्‍होंने हिंसा की सभी घटनाओं और पुलिस की निष्क्रियता के मामले की जांच के लिए एसआईटी जांच की मांग की है. उनका आरोप है कि सत्‍तारूढ़ दल टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने उनके साथ गैंगरेप किया है.

सुप्रीम कोर्ट में इन महिलाओं ने गुजरात के गोधरा कांड के बाद सर्वोच्‍च न्‍यायालय की ओर से की गई कार्रवाई का हवाला दिया. इन महिलाओं ने उसी मामले की तरह सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में बंगाल में हुई गैंगरेप और हिंसा की घटनाओं की एसआईटी जांच किए जाने की मांग की है. उनका कहना है कि राज्‍य में विधानसभा चुनाव के बाद यह घटनाएं हुई हैं.

ऐसी ही एक 60 साल की बुजुर्ग महिला ने सुप्रीम कोर्ट में उनके साथ हुई घटना के बारे में बताया. महिला का कहना था कि विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद टीएमसी वर्कर उसके घर में घुसे. उसका घर पूर्व मेदिनीपुर में स्थित है. इसके बाद उन्‍होंने उसके 6 साल के नाती के सामने उसका गैंगरेप किया. इसके बाद उन्‍होंने घर की सभी कीमती चीजें लूट लीं. यह घटना 4 और 5 मई की दरम्‍यानी रात को हुई थी.

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News