ख़बर जहां, नज़र वहां

अफगानिस्तान ने भारत से मांगी आपात मदद

मोहम्मद हनीफ अत्मार अफगानिस्तान के विदेश मंत्री ने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर को फोन कर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपातकालीन बैठक बुलाने को लेकर बात की है
अफगानिस्तान ने भारत से मांगी आपात मदद

नई दिल्ली: मोहम्मद हनीफ अत्मार अफगानिस्तान के विदेश मंत्री ने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर को फोन कर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपातकालीन बैठक बुलाने को लेकर बात की है. इसे लेकर अफगानिस्तान ने भारत से मदद मांगी है. भारत इस महीने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अध्यक्ष है यानी ऐसी किसी भी तरह की बैठक बुलाने में भारत की भूमिका अहम है.

अफगान विदेश मंत्री मोहम्मद हनीफ अत्मार ने एस जयशंकर से बात करने के बाद मंगलवार रात ट्वीट कर बताया, ''भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर को फोन कर बात की और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अफगानिस्तान पर सुरक्षा परिषद की आपातकालीन बैठक बुलाने की मांग की. संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को तालिबान की हिंसा और जुल्म के खिलाफ बड़ा कदम उठाने की जरूरत है. यूएनएससी में अध्यक्ष के रूप में हम भारत की प्रशंसा करते हैं.''

अफगानिस्तान विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ''मंगलवार शाम अफगान विदेश मंत्री और भारतीय विदेश मंत्री के बीच तालिबान की बढ़ती हिंसा, मानवाधिकारों के उल्लंघन के साथ अफगानिस्तान में विदेशी आतंकवादी समूह के ऑपरेशन पर बात हुई. हमने भारतीय विदेश मंत्री से अफगानिस्तान पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपातकालीन बैठक बुलाने की मांग की है. भारत अभी यूएनएससी का अध्यक्ष है.''

अफगानिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि अफगान विदेश मंत्री अत्मार ने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर से कहा कि तालिबान की बढ़ती क्रूरता से कई आम लोगों की जान जा रही है. इस बातचीत के दौरान अफगान विदेश मंत्री ने तालिबान और विदेशी आतंकवादी गिरोहों के गठजोड़ को भी उठाया. अत्मार ने कहा कि तालिबान अंतरराष्ट्रीय नियमों की धज्जियां उड़ा रहा है.

अफगानिस्तान के संकट को लेकर भारत अभी सबसे बड़ी दुविधा में है. भारत अफगानिस्तान में अशरफ गनी की सरकार के साथ है लेकिन तालिबान को नजरअंदाज करना भी भारत के लिए अब मुश्किल हो गया है. पिछले हफ्ते मंगलवार को अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन जब भारत के पहुंचे थे तो तालिबान का एक प्रतिनिधिमंडल चीन के दौरे पर था. तालिबान के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व मुल्लाह अब्दुल गनी बरादर कर रहे थे.

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News