सबरी और केवट की क्यों नहीं?

अयोध्या भूमि विवाद पर उच्चतम न्यायालय के नौ नवंबर को दिए फैसले के बाद राम मंदिर बनने का रास्ता साफ हो गया है. जहां मंदिर निर्माण को लेकर काफी राजनीतिक बयानबाजी हो रही है. वहीं कई लोग विभिन्न तरह की मांग कर रहे हैं. जबकि इसी बीच इसी बीच गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक कार्यकम में राम मंदिर को लेकर अपने विचार प्रस्तुत किए. उनका कहना है कि राम मंदिर में शबरी और केवट की मूर्तियों को स्थापित करना चाहिए. सत्यपाल मलिक ने कहा, 'देशभर में हर कोई अयोध्या में राम मंदिर के बारे में बात कर रहा है कि वहां एक भव्य राम मंदिर बनेगा. लेकिन मुझे लगता है कि कोई भी उन लोगों की बात नहीं कर रहा है. जिन्होंने भगवान राम की यात्रा में उनका साथ दिया. साथ ही उन्होंने कहा, 'मैंने अभी तक नहीं सुना कि लोग केवट और सबरी की मूर्तियों की राम दरबार में मांग करते हुए दिखाई दिए हों. जिस दिन मंदिर के लिए ट्रस्ट बनेगा. मैं उसे पत्र लिखूंगा कि वे सच्चाई के पक्ष में उनके साथ लड़ने वाले लोगों की मूर्तियों को स्थापित करने का आग्रह करें।

Leave a comment