भारत के वर्ल्ड कप से बाहर होने पर वकार यूनिस ने कसा तंज

वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच में न्यूजीलैंड से भारत की हार के बाद कई पाकिस्तानी खुश नजर आ रहे हैं. यहां तक कि वे अपनी खुशी का इजहार सोशल मीडिया पर खुले आम कर रहे हैं.

पाकिस्तानी फैंस समेत पाकिस्तान के कुछ पूर्व खिलाड़ी भी भारतीय टीम की हार के बाद कोहली बिग्रेड का मजाक उड़ाने की कोशिश कर रहे हैं. इमरान खान के मंत्री चौधरी फवाद हुसैन के बाद अब इस लिस्ट में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान वकार यूनिस का नाम भी जुड़ गया है. कीवियों के हाथों भारत की हार से शायद वकार यूनिस के कलेजे को भी ठंडक मिली है. वकार यूनिस ने भारतीय टीम की हार के मौके का फायदा उठाते हुए तंज भरा ट्वीट किया और एक नसीहत भी दे डाली.

उन्होंने लिखा, "क्रिकेट बहुत ही क्रूर खेल है. यह सबको एक बराबरी पर लाकर खड़ा कर देता है.. जब आप बिल्कुल भी उम्मीद नहीं कर रहे होते है, उसी वक्त ये आपको पटखनी देता है. मैंने आज एक सबक सीखा है कि कभी भी किसी खेल को दूषित मत करो."पूर्व क्रिकेटर यूनिस 30 जून को इंग्लैंड के खिलाफ भारत की हार पर भी भड़के थे. दरअसल, इस मैच में भारत की हार के साथ पाकिस्तान की सेमीफाइनल में पहुंचने की संभावनाएं खतरे में पड़ गई थीं.

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर बासित अली ने तो यह तक दावा कर दिया था कि पाकिस्तान को सेमीफाइनल से बाहर करने के लिए भारत जानबूझकर इंग्लैंड व बचे मैच में हार सकता है. यूनिस भी इस तर्क से सहमत दिखाई दिए थे.

इंग्लैंड के 337 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम के एक-एक रन लेने को लेकर उनकी जीत के लिए कमजोर इच्छाशक्ति को लेकर सवाल खड़े किए गए थे. यूनिस ने ट्वीट किया था, "इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन हैं...आप जिंदगी में जो कुछ भी करते हैं, उससे आपकी पहचान बनती है.. मैं पाकिस्तान के सेमीफाइनल में पहुंचने को लेकर चिंतित नहीं हूं...लेकिन एक बात तय है कि कुछ लोग खेल भावना की परीक्षा में बुरी तरह फेल हुए हैं."

वैसे खेल भावना का पाठ पढ़ाने वाले यूनिस खुद इस परीक्षा में असफल रहे थे. रिपोर्ट्स के मुताबिक, 1999 में भारत-पाकिस्तान के टेस्ट मैच के दौरान वकार यूनिस ने अपने पार्टनर वसीम अकरम से जानबूझकर आउट होने की बात कही थी ताकि अनिल कुंबले 10 विकेट लेकर इतिहास ना रच सकें. 

 



 

Leave a comment