पतं​जलि ग्रुप के इस शेयर में आया था 9434 फीसदी का भारी उछाल

बाबा रामदेव के मार्गदर्शन वाले पतंजलि समूह की कंपनी रुचि सोया के शेयरों में पिछले पांच महीने में 9,434 फीसदी का भारी उछाल आने से लोग चकित रह गए थे. लेकिन पिछले तीन-चार दिन से यह शेयर गिरने लगा है और इसमें करीब 20 फीसदी की गिरावट आ गई.

26 जून को इस शेयर की कीमत 1507 रुपये थी. आज यानी गुरुवार को रुचि सोया का शेयर 5 फीसदी टूटकर 1227 के आसपास कारोबार कर रहा है. बुधवार को भी रुचि सोया के शेयर 5 फीसदी टूटकर 1,292 रुपये पर बंद हुए थे.

भारी उतार-चढ़ाव

इस शेयर के 52 हफ्तों के हाई और लो प्राइस को देखें तो इसमें जमीन आसमान का अंतर नजर आता है. रुचि सोया का 52 हफ्ते (हालांकि यह शेयर इस साल 27 जनवरी को ही रीलिस्ट हुआ है इसलिए यह आंकड़ा पांच महीने का ही है) का सबसे निचला स्तर 3.28 रुपये था और सबसे उंचा स्तर 1535 रुपये का. पिछले दो महीने की बात करें तो 27 मई को यह शेयर 515 रुपये के निचले स्तर पर था और 29 जून को 1535 रुपये के आल टाइम हाई पर पहुंच गया.

इसके पहले 29 और 30 जून को भी इस शेयर में 5-5 फीसदी की गिरावट आई थी. 27 जनवरी, 2020 को रुचि सोया के शेयर 16.10 रुपये पर ही शेयर बाजार में रीलिस्ट यानी फिर से लिस्ट हुए थे. इसके बाद पांच महीने में ही इस शेयर में 9,434 फीसदी की हैरान कर देने वाली बढ़त हुई है और कंपनी का मार्केट कैप 45,000 करोड़ रुपये तक पहुंच गया.

क्यों बढ़े शेयर के दाम

रुचि सोया के शेयरों में इतना जबरदस्त उछाल कैसे आया, यह सबके लिए हैरान करने वाली बात है. कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन इतना मजबूत नहीं है कि उसे यह मुकाम हासिल हो. कंपनी दिवालिया प्रक्रिया से गुजर रही थी और पिछले साल पतंजलि आयुर्वेद ने इसे 4,350 करोड़ रुपये में खरीद लिया था.

कंपनी ने हाल में तिमाही नतीजा जारी किया जिसमें कहा गया कि उसे मार्च की चौथी तिमाही में 41.25 करोड़ रुपये का घाटा हुआ, जब​कि एक साल पहले उसे इस अवधि में 32.11 करोड़ रुपये का फायदा हुआ था. हालांकि पूरे वित्त वर्ष 2019-20 में कंपनी को 7,672 करोड़ रुपये का भारी मुनाफा हुआ है, क्योंकि उसे कर्ज और इक्विटी में कुछ रीस्ट्रक्चरिंग करने से 7,447 करोड़ रुपये की एकमुश्त रकम हासिल हुई है.

पतंजलि को दिसंबर में एनसीएलटी से इस कंपनी का नियंत्रण मिला है. इसके बाद कंपनी को फिर से 27 जनवरी, 2020 को शेयर बाजार में लिस्ट किया गया. मध्य प्रदेश मुख्यालय वाली यह कंपनियां देश की प्रमुख खाद्य तेल और सोयाबीन उत्पाद कंपनी है. सोयाबीन में इसका न्यूट्रीला ब्रांड काफी लोकप्रिय है.

Leave a comment