इस मुस्लिम देश को गायों ने बनाया 'संपन्न', संकट से निकाला बाहर

हालिया दौर में दुनिया का सबसे धनी देश कतर खाड़ी संकट के केंद्र में है. दरअसल पिछले साल अचानक 5 जून को सुन्‍नी देश सऊदी अरब ने आतंकवाद के पोषण का आरोप लगाते हुए अपने सहयोगियों संयुक्‍त अरब अमीरात (यूएई), बहरीन और मिस्र के साथ कतर से सभी तरह के राजनयिक, व्‍यापारिक और परिवहन संबंधों को खत्‍म करने का ऐलान कर दिया. उनके इस ऐलान से यह मुल्क सकते में आ गया.

बता दें कि प्राकृतिक गैसों के मामले में साधन-संपन्‍न यह देश इस कारण परेशान हो गया क्‍योंकि यह दूध के मामले में पूरी तरह से सऊदी अरब पर निर्भर था.  सऊदी अरब से ही दूध का आयात होता था लेकिन पाबंदी के कारण अब यह देश दूध से वंचित हो गया मगर फिर भी इस देश ने हिम्मत नही हारी उसने इसे एक चुनौती के रुप में लिया.  27 लाख आबादी वाले देश कतर ने आनन- फानन में अमेरिका से कई हजार गायें खरींदीं.

पांबदी लगने के एक महीने के भीतर ही अमेरिका के कैलिफोर्निया, एरीजोना और विस्‍कांसिन जैसे प्रांतों से हजारों गायों को कतर पहुंचाया गया. देखते ही देखते 10 हजारों गायों का पहला डेयरी फार्म दोहा से 50 किमी दूर बलाडना नामक जगह पर खोला गया. यहां गायों का खास ख्‍याल रखा जाता है. बता दें कि इस फार्म को खोलने के साथ ही यह कतर ने यह लक्ष्‍य रखा था कि जब पड़ोसी अरब मुल्‍कों की पाबंदियों का एक साल पूरा होगा, तब तक ताजा दूध के मामले में कतर पूरी तरह से आत्‍म-निर्भर बन जाएगा.

अब पांच जून को इसके एक साल पूरा होने पर कतर पूरी तरह से दूध के मामले में आत्‍म-निर्भर बन गया. कतर के लिए यह बहुत बड़ी बात इसलिए है क्‍योंकि इसको राष्‍ट्रीय गौरव के साथ जोड़कर देखा जाने लगा था.

क्यों लगा कतर पर प्रतिबंध

पिछले साल ईरान के राष्‍ट्रपति हसन रोहानी के दोबारा इस पद पर चुने जाने के बाद कतर के शासक ने उनको बधाई दी और शिया देश ईरान को क्षेत्र की बड़ी इस्‍लामिक ताकत बताया. कतर की एक समाचार एजेंसी द्वारा प्रकाशित इस खबर के बाद शिया-सुन्‍नी खेमों मे बंटे अरब जगत में सुन्‍नी खेमे का नेतृत्‍व करने वाला सऊदी अरब इससे भड़क गया. ऐसा इसलिए क्‍योंकि सऊदी अरब जैसे सुन्‍नी देश ईरान को इस क्षेत्र में अपना सबसे बड़ा दुश्‍मन मानते हैं. लिहाजा सऊदी अरब समेत कई मुल्‍कों ने कतर पर आतंकवाद को प्रोत्‍साहन देने, टेरर फंडिंग, क्षेत्र में अस्थिरता फैलाने जैसे कई आरोप लगाते हुए उससे पूरी तरह से संपर्क समाप्‍त करने की घोषणा कर दी. 

Leave a comment