आज के ही दिन दक्षिण अफ्रीका के इस विवादित क्रिकेटर की विमान हादसे में हुई थी दर्दनाक मौत

क्रिकेट जगत में आज यानि 1 जून का दिन एक बहुत ही दुखद हादसे का गवाह है.  आज से 16 साल पहले सन 2002 को आज के ही दिन दक्षिण अफ्रीका के कप्तान हैंसी क्रोन्ये की विमान दुर्घटना में मौत हो गई थी. बता दें कि हैंसी क्रोन्ये को क्रिकेट के इतिहास में दो वजहों से याद किया जाता है. एक तो उनकी बेहतरीन कप्तानी के लिए और दूसरा क्रिकेट जगत में मैच फिक्सिंग के लिए. मैच फिक्सिंग प्रकरण के बाद क्रोन्ये पर आजीवन बैन लगा दिया गया लेकिन अभी इसे एक साल भी नहीं बीता था कि ये हादसा हो गया

22 वर्षीय हैंसी क्रोन्ये ने वनडे मैचों में साउथ अफ्रीका के लिए डेब्यू साल 1992 के आइसीसी क्रिकेट विश्वकप में किया था. यह विश्वकप ऑस्ट्रेलिया में खेला गया था.  क्रोन्ये ने अपना पहला मैच 26 फरवरी को सिडनी में मेजबान टीम के खिलाफ खेला. साल 1994 में दक्षिण अफ्रीका के कप्तान कैप्लर वैसल्स के चोटिल हो जाने के कारण क्रोन्ये को टीम की कमान सौंपी गई.

एडिलेड में खेले गए इस मैच में क्रोन्ये ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच में पहली बार कप्तानी की. तब वो 24 साल के थे और मरे बिसेट (1898-1899) के बाद दक्षिण अफ्रीका के दूसरे सबसे कम उम्र के कप्तान बने. हैंसी क्रोन्ये ने दक्षिण अफ्रीका के लिए 138 वनडे मैचों में कप्तानी की, जिसमें से 99 मैचों में क्रोन्ये ने अपनी टीम को जीत दिलाई थी. क्रोन्ये ने 68 टेस्ट मैच और 188 वनडे मैच खेले थे और 53 टेस्ट मैचों में उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के लिए कप्तानी की थी.

 

साल 2000 में मैच फिक्सिंग के खुलासे के बाद क्रिकेट की दुनिया में भूचाल आ गया था. दक्षिण अफ्रीका के तत्कालीन कप्तान हैंसी क्रोन्ये क्रिकेट के इस काले अध्याय के पहले विलेन बने थे. भारत के दौरे के बाद ही वो फिक्सिंग को लेकर चर्चा में थे लेकिन उन्होंने इन बातों से साफ इंकार किया था, लेकिन 11 अप्रैल साल 2000 को हैंसी ने खुद ही कबूल कर लिया कि वो फिक्सिंग में शामिल थे उनकी इस खेल में बड़ी भूमिका थी.

1 जून 2002 को दक्षिण अफ्रीका का यह दिग्गज कप्तान एक विमान हादसे का शिकार हो गया. दक्षिण अफ्रीका के एक शहर जॉर्ज के पास यह हादसा हुआ. क्रोन्ये दक्षिण अफ्रीका की आउटनिक्वूआ माउंटेन के ऊपर से हेलिकॉप्टर से यात्रा कर रहे थे उसी समय ये दर्दनाक हादसा हुआ. क्रोन्ये  हवाई जहाज से जोहानिसबर्ग से जॉर्ज जाने वाले थे लेकिन तकनीकी खराबी के कारण उन्हें हवाई जहाज की बजाए हेलिकाप्टर से जाना पड़ा.

क्रोन्ये इस हेलिकॉप्टर पर अकेले यात्री थे, उनके साथ दो अन्य पायलट भी थे. जॉर्ज एयरपोर्ट के नजदीक पहुंचने पर अचानक बादलों की वजह से वहां की विजिबिलिटी खत्म सी हो गई और हेलिकाप्टर के नेवीगेशन सिस्टम ने काम करना बंद कर दिया जिसके चलते काफी देर तक लैंड नहीं कर पाया और पहाड़ो से टकरा गया. इस दर्दनाक हादसे में 32 वर्षीय हैंसी क्रोन्ये की मौत हो गई थी. विमान हादसे के वक्त क्रोन्ये मात्र 32 साल के ही थे क्रोन्ये की लोकप्रियता का अंदाजा हम इस बात से लगा सकते हैं कि उनके अंतिम संस्कार में लगभग 2000 से भी ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया था.

Leave a comment