लद्दाख और जम्मू के लोग केंद्र के फैसले के समर्थन में

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने जम्मू और लद्दाख में हालात सामान्य होने का दावा किया है. लेकिन कश्मीर पर उन्होंने कहा है कि घाटी में कुछ मुद्दे अब भी हैं. राम माधव ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से जम्मू और लद्दाख के लोग खुश हैं. लेकिन कश्मीर अब भी सामान्य नहीं हुआ है, कुछ मुद्दे बाकी हैं. राम माधव ने कहा कि हर कश्मीरी देशद्रोही नहीं है. न ही हर कश्मीरी अलगाववादी है. वो लोग, मेरे और आप की तरह ही हैं. हमने अनुच्छेद 370 को हटा दिया . क्योंकि हम कश्मीर को विकास का अधिकार देना चाहते थे. राजनीतिक अधिकार देना चाहते थे. हम चाहते थे कि कश्मीर के लोग सम्मान की जिंदगी जिएं. राम माधव ने कहा कि राज्य में 200 से अधिक नेताओं को नजरबंद रखा गया है. उन्हें पांच सितारा होटलों में नजरबंद किया गया है. यह राज्य में कानून व्यस्था बनाए रखने के लिए किया गया है. 200 लोग 2 महीने के लिए जेल में हैं. राज्य शांतिपूर्ण है. राम माधव ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में, जम्मू खुश है. अंतत: वे देश में शामिल हो गए हैं. लेकिन कश्मीर घाटी में अब भी कुछ मुद्दे हैं. इन मुद्दों पर गौर किया जाएगा, साथ ही इनका निपटारा बेहद संवेदनशील तरीके के साथ किया जाएगा. राम माधव ने कहा कि लद्दाख के लोग भी इस फैसले से खुश हैं. वे इसलिए भी खुश हैं क्योंकि काफी अरसे से वे इसकी मांग कर रहे थे. राम माधव दरअसल तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में नेशनल यूनिटी कैंपेन को संबोधित कर रहे थे. राम माधव ने कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाने के फैसले को कश्मीर की जनता को समझाया जाएगा. कश्मीर में भी कुछ लोग इस फैसले की तारीफ कर रहे हैं.

Leave a comment