निर्भया के दोषियों के पास फांसी से बचने के लिए बचा एक ही विकल्प

निर्भया के दो दोषियों मुकेश सिंह और विनय कुमार शर्मा को मंगलवार को झटका देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने उनकी  सुधारात्मक याचिका खारिज कर दी। इसी के साथ कोर्ट ने उनकी वह याचिका भी खारिज कर दी, जिसमें दोनों दोषियों ने फांसी की सजा पर रोक लगाने की मांग की थी। 

ऐसे में डेथ वारंट जारी होने के बाद आगामी 22 जनवरी को दोनों की फांसी पर चढ़ाने का रास्ता साफ हो गया। अब इन दोनों मुकेश सिंह और विनय कुमार शर्मा के पास फांसी से बचने के लिए सिर्फ एक ही विकल्प बचा है- वह राष्ट्रपति पास दया याचिका दायर करने का विकल्प। बता दें कि इनमें से विनय कुमार शर्मा की दया याचिका राष्ट्रपति के लंबित है, जिस पर कभी भी फैसला आ सकता है। 

यहां पर बता दें कि किसी भी दोषी के पास फांसी की सजा मिलने के बाद कुल तीन विकल्प होते हैं। पहला पुनर्विचार याचिका, दूसरा क्यूरेटिव पेटिशन और तीसरा और अंतिम विकल्प होता है- राष्ट्रपति के पास दया याचिका।

Leave a comment