केंद्र सरकार ने ​दी स्वीकृति, भारत में खुलेगा ईरान का पहला बैंक

नई दिल्‍ली: भारत सरकार ने ईरान के एक बैंक को मुंबई में अपनी शाखा स्थापित करने की स्वीकृति दी है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भारत यात्रा पर आए ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ के साथ मुलाकात के बाद यह जानकारी दी। ईरान का बैंक पसरगाद अगले तीन महीने में यह शाखा चालू करेगा। गडकरी ने बताया कि सरकार इसकी अनुमति पहले ही दे चुकी है। ईरानी बैंक तीन माह में मुंबई में शाखा चालू कर देगा। इससे पहले गड़करी ने ईरानी विदेश मंत्री के साथ बैठक में विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की। गडकरी के पास जहाजरानी, सड़क परिवहन और राजमार्ग जैसे विभागों की जिम्मेदारी है। बैठक के बाद उन्होंने कहा, ‘हमने विस्तार से बाचतीत की है। हमारी यह बैठक बड़ी सार्थक रही और हमने बहुत से मुद्दों का समाधान कर लिया है। ’भारत ने इस बंदरगाह के लिए 8.5 करोड़ डॉलर की मशीनों की खरीद का आर्डर जारी कर रखा है। यह बंदरगाह दक्षिणी ईरान में ओमान की खाड़ी के तट पर है।

गडकरी ने कहा, ‘‘ईरान के मंत्री के साथ हमारी अच्छी बातचीत हुई। चाबहार पर माल आना शुरू हो गया है और पहला जहाज ब्राजील से माल लेकर आया। वहां परिचालन के लिए वित्त का प्रबंध पूरा किया जा चुका है। कुछ दिक्कतें थीं पर हमने इन मुद्दों का समाधान कर लिया है.’’ उन्होंने कहा कि भारत और ईरान के बीच वस्तु व्यापार व्यवस्था अपनाने के प्रस्ताव पर भी विचार किया जा सकता है। ककने यह भी बताया कि ईरान के विदेश मंत्री ने कई प्रस्ताव सुझाए हैं। उन्होंने कहा , ‘‘ईरान को इस्पात, रेल और रेल इंजनों आदि की जरूरत है। ’’ भारत इन सामानों की आपूर्ति कर सकता है।

 

Leave a comment