आतंकवाद नहीं ये बीमारी है अमेरिका की दुश्मन, हर साल 26 लाख से ज्यादा मौत

अमेरिका में हर साल 26 लाख से भी ज्यादा लोगों की मौत होती है. यहां हर चौथे इंसान की मौत का कारण हृदय रोग  है. साल 2016 में जुटाए आंकड़ों के मुताबिक यहां कुल मौतों में से 30.2 फीसदी तो सिर्फ हार्ट अटैक या अन्य हृदय संबंधित रोगों की वजह से होती है. जबकि 29.5 प्रतिशत लोग कैंसर की वजह से अपनी जान गंवाते हैं. हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स में मौत की वजह कुछ और ही बताई जाती है. साल 2016 में न्यूयॉर्क टाइम्स और द गार्जियन द्वारा पेश किए गए मौत के आंकड़ों पर विश्वास करना थोड़ा मुश्किल है.

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट-

साल 2016 में न्यूयॉर्क टाइम्स ने अमेरिका में सबसे ज्यादा मौतों के लिए आतंकवाद को जिम्मेदार ठहराया था. यहां हर साल 35.6 फीसदी लोग आतंकवाद की भेंट चढ़ते हैं. जबकि 22.8 फीसदी लोगों की मौत का कारण नरहत्या को ठहराया था. कुल मौतों में खुदकुशी करने वाले 10.6 प्रतिशत लोगों की मौत होती है. इसके अलावा निमोनिया और इंफ्लूएंजा (5.2%), डायबिटीज (2.4%) सदमा (5%), अल्जाइमर (1%), सांस की बीमारी (1.2%) और सड़क हासदे (1.9%) और कैंसर के कारण 13.5 प्रतिशत लोगों की मौत होती है.

द गार्जियन की रिपोर्ट-

द गार्जियन ने भी लगभग इसी तरह के आंकड़े पेश किए थे. रिपोर्ट की माने तो यहां आतंकवाद के कारण 33.3 फीसदी लोग अपनी जान गंवाते हैं और 23.3 प्रतिशत लोगों की हत्या की जाती है. खुदकुशी के कारण करीब 14 प्रतिशत लोगों की मौत होती है. इसके अलावा निमोनिया और इंफ्लूएंजा (2.3%), डायबिटीज (2.3%) सदमा (5%), सांस की बीमारी (1.5%) और सड़क हासदे (2.8%) और कैंसर की वजह से 12.7 फीसदी लोगों की मौत होती है.

वास्तव में रिपोर्ट में बताए गए मौत के आंकड़े गूगल पर सर्च की गई बीमारियों और वास्तव में हुई मौतों से बिल्कुल मेल नहीं खाते. इसलिए मीडिया रिपोर्ट में पेश किए गए मौत के इन आंकड़ों पर विश्वास नहीं किया जा सकता. आइए आपको बताते हैं कि अमेरिका में किन विषयों पर सबसे ज्यादा गूगल सर्च किया जाता है.

इन विषयों पर हुआ सबसे ज्यादा गूगल सर्च-

अमेरिका में इसी वर्ष (2016) सबसे ज्यादा गूगल सर्च कैंसर (37%), पर किया गया. जबकि आतंकवाद के मुद्दे पर सिर्फ 7.2% लोग ही सर्च करते हैं. इसके अलावा हृदय रोग (2.5%) हत्या (3.2%), खुदकुशी (12.4%), निमोनिया और इंफ्लूएंजा (5.2%), किडनी डिसीज (1.1%), ड्रग ओवरडोज (1.3%). डायबिटीज (8.9%), सदमा (6.5%), अल्जाइमर (2.9%), सांस की बीमारी (2.1%) और सड़क हादसों को लेकर 10.7 प्रतिशत लोग सर्च करते हैं.

मौत की असली वजह-

यहां साल 2016 सबसे ज्यादा मौतें (30.2%) हृदय रोगों की वजह से हुईं. जबकि 29.5 प्रतिशत लोगों की मौत का कारण कैंसर बना. इसके अलावा सड़क हादसे (7.6%), सांस की बीमारी (7.4%), अल्जाइमर (5.6%), सदमा (4.9%), डायबिटीज (3.8%), ड्रग ओवरडोज (2.8%), किडनी डिसीज (2.7%) निमोनिया और इंफ्लूएंजा (2.5%) और खुदकुशी की वजह से 1.8 लोगों की मौत हुई थीं.

Leave a comment