मम्मियों की खामखां की लड़ाई में फंसे सनी-सोनाली, फीकी है फिल्म

लव रंजन के प्रोडक्शन में कोई फिल्म बने और उससे दर्शकों को उम्मीदें ना हो ऐसा नहीं हो सकता. जब मैं सनी सिंह निज्जर और सोनाली सहगल की फिल्म जय मम्मी दी देखने के लिए सिनेमाहॉल में गई तो मैंने भी सोचा था कि मुझे कुछ बढ़िया कॉमेडी और किरदार देखने को मिलेंगे. लेकिन अफसोस ऐसा नहीं हुआ.

जय मम्मी दी कहानी है लाली खन्ना (सुप्रिया पाठक कपूर) और पिंकी भल्ला (पूनम ढिल्लन) की जो कॉलेज की दोस्त हुआ करती थीं. अब लाली और पिंकी दो जवान बच्चों की मां हैं और एक-दूसरे की जानी दुश्मन हैं. इन दोनों की दुश्मनी ऐसी है कि दोनों में से एक भी पीछे हटने को तैयार नहीं है और एक दूसरे की बराबरी करने के लिए दोनों एक ही काम करती हैं.

दोनों के घर में एक ही कामवाली है, दोनों एक जैसे कपड़ें भी सिलवा लेती हैं और यहां तक कि अपने बच्चों की शादी की तारीख और वेन्यू भी एक ही रखती हैं. इन दोनों के बच्चों का मानना है कि लाली और पिंकी का बस चले तो वो दोनों बच्चों की शादी भी एक ही इंसान से करवा दें.

अब लाली और पिंकी के बच्चों की बात करें तो पुनीत खन्ना (सनी सिंह निज्जर) और सांझ भल्ला (सोनाली सहगल) एक दूसरे को बचपन से जानते हैं. ये दोनों बच्चे बचपन से एक-दूसरे को पसंद करते हैं लेकिन अपनी मांओं की दुश्मनी के चलते एक नहीं हो पा रहे. क्या दोनों मां अपनी दुश्मनी भूलकर इन दोनों बच्चों को एक होने देंगी या नहीं यही फिल्म में देखने वाली बात है.

Leave a comment