सुनील शेट्टी बोले, मेरे बारे में झूठ कहा गया

पिछले साल अप्रैल में फिल्म ‘मोतीचूर चकनाचूर’ के निर्माताओं ने अभिनेता सुनील शेट्टी पर बेटी आथिया शेट्टी की फिल्म में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया था। इस फिल्म में अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी भी थे। लेकिन सुनील शेट्टी ने खुद का बचाव करने की बजाय इस मुद्दे पर चुप रहने का फैसला किया था। हालांकि अब इस विवाद पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए सुनील कहते हैं, ‘मैं बहुत दृढ़ता से कह सकता हूं कि मैं आथिया की फिल्मों में कभी हस्तक्षेप नहीं करता और वो सब झूठ था। निर्माता (राजेश और किरण भाटिया) ने बताया था कि वे क्या चाहते थे, लेकिन उस समय भी मैंने कभी अपनी चीजें उन पर नहीं थोपीं, क्योंकि मैं जानता था कि यह किसी और की फिल्म थी। मेरी इसमें बिल्कुल भी भागीदारी नहीं थी।

शेट्टी को कथित तौर पर एक कानूनी नोटिस भी भेजा गया था, जिसमें कहा गया था कि प्रोजेक्ट में  शामिल होने के लिए उनके पास कोई अधिकार नहीं है और वह फिल्म की पोस्ट प्रोडक्शन प्रक्रिया और विपणन अभियान में शामिल होने की कोशिश नहीं करेंगे। अगर ऐसा किया जाता है, तो इसे अतिचार (ट्रेसपासिंग) माना जाएगा। हालांकि फिल्म रिलीज होने के बाद इसे बॉक्स ऑफिस पर मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली थी। सुनील का कहना है कि उन्होंने उस घटना के बाद निर्माताओं से कभी बात नहीं की और अभी भी उनकी निर्माताओं से कोई बात नहीं हुई। उन्होंने कहा, ‘हम दोनों जानते हैं कि कौन झूठ बोल रहा है और कौन नहीं। तो हम किसे बेवकूफ बना रहे हैं? मुझे पता है और मैं 100 फीसदी स्पष्ट हूं कि मैं बिल्कुल भी गलत नहीं था। ‘मोतीचूर चकनाचूर’ ने आथिया को परफॉर्म करने का अवसर दिया था और उन्हें एक एक्टर के रूप में काफी  सराहा गया था। एक पिता को इससे ज्यादा और क्या चाहिए?


58 वर्षीय अभिनेता ने अब तक करीब 128 फिल्मों में काम किया है। वह यह स्पष्ट करते हैं कि उन्होंने कई निर्माताओं और निर्देशकों के साथ काम किया है और उन्हें पता है कि उनकी मर्यादा क्या है। वह कहते हैं, ‘फिर भी अगर कोई इस विवाद में विश्वास करता है, तो मैं इसके लिए कुछ भी कर सकता हूं। मैं एक ऐसा व्यक्ति हूं, जो अपने बलबूते पर काम करता है। मैंने कभी किसी से कोई एहसान नहीं लिया। मैं कभी किसी के प्रोजेक्ट में हस्तक्षेप नहीं करता। इंडस्ट्री में कुछ न कुछ होता ही रहता है और मेरा मानना है कि हम एक बड़ा परिवार हैं। अगर आज हम मिलकर लड़ते हैं, तो कल हम एक होंगे। किसी के बारे में नकारात्मक चीजें कहने का कोई मतलब नहीं है। कम से कम मैं तो ऐसा हरगिज नहीं करूंगा।

Leave a comment