क्या आपने कभी कब्रों के बीच बैठकर खाया है खाना... कुछ ऐसे ही हैं देश के ये Theme Based Restaurants

आजकल लोग बिना रेस्टोरेंट्स के रह ही नहीं सकते. जितनी रफ़्तार से तकनीके बढ़ रही हैं उतनी ही रफ्तार से लोग भी अपने कामों में नई नई चीज़े ला रहे है जिससे की उनके कस्टमर्स उनकी तरफ ज्यादा आकर्षित हो. बात करे रेस्टोरेंट की तो अपने देखा होगा की लोग अपने रेस्टोरेंट को बेहतर और आकर्षित बनाने के लिए न जाने क्या क्या करते रहते है.

रेस्टोरेंट एक ऐसी जगह होती है जहा हम अपना लगभग 1 घंटा तो बिताते है. इसलिए यह पर अच्छी सर्विस और एनवायरनमेंट बहुत माये रखता है. इसके साथ ही मायने रखता रेस्टोरेंट की थीम. आजकल लोग अपना रेस्टोरेंट खोलने से पहले एक न एक थीम जरूर ध्यान में रखते है. लेकिन कभी कभी कुछ रेस्टोरेंट की थीम ऐसी देखने को मिलती है जो हमे काफी अजीब लगती है. 

नेचर्स टॉयलेट कैफे, अहमदाबाद

किसी रेस्टोरेंट के नाम में ही टॉयलेट शब्द आ जाये तो आप समझ सकते है की यह आपको किस तरह की थीम देखने को मिलेगी. दुनियाभर में वैसे तो इस थीम के कई रेस्टोरेंट है लेकिन भारत में इस थीम पर बना ये पहला रेस्टोरेंट है. आपको बता दे की इस रेस्टोरेंट को जयेश पटेल ने बनाया है. यहा कस्टमर्स के बैठने के लिए टॉयलेट सीट्स लगाई गयी है. लोग इसे टॉयलेट गार्डन भी कहते है.

टेस्ट ऑफ डार्कनेस, हैदराबाद

इस रेस्टोरेंट को वैसे तो नेत्रहीन लोगो के लिए बनाया गया है लेकिन यहा पर नार्मल लोग भी आते है. इस रेस्टोरेंट की ख़ास बात ये है की यह हर समय अँधेरा ही रहता है चाहे इस रेस्टोरेंट में कोई भी आये. आपको बता दे की ऐसा इसलिए किया गया है ताकि देख सकने वाले लोगो को भी नेत्रहीन की जिंदगी का एहसास हो सके. इसके अलावा इस रेस्टोरेंट में हिलते हुवे ब्रिज और पार्क का अनुभव भी ले सकते है.

 न्यू लकी रेस्टोरेंट, अहमदाबाद

अगर आपसे ये कहा जाये की आप कब्रों के बीच में बैठकर खाना खाए तो आपको कैसा लगेगा ? लेकिन आपको बता दे की इस रेस्टोरेंट की थीम कुछ ऐसी ही है. ये रेस्टोरेंट कब्रिस्तान के ऊपर ही बनाया गया है. रेस्टोरेंट के मालिक का मानना है की ये कब्रे उनके लिए लकी है. इस रेस्टोरेंट में आप कब्रों के साथ बैठकर खाने का अनुभव ले सकते है क्योकि कब्रिस्तान के ऊपर बने इस रेस्टोरेंट से कब्रे भी नही हटाई गयी है.

Leave a comment