सऊदी अटैक से तेल की कीमतों में आग, भारत पर क्या हो सकता है असर

सऊदी अरब में आरामको के तेल संयंत्र पर ड्रोन हमले से वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आग लग गई है. लंदन का ब्रेंट क्रूड फ्यूचर 19.5 फीसदी बढ़कर 71.95 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया. यह 14 जून 1991 के बाद कच्चे तेल की कीमतों में सबसे बड़ा उछाल है.

अमेरिकी वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट फ्यूचर 15.5 फीसदी चढ़कर 63.34 अरब प्रति बैरल तक पहुंच गया जो 22 जून, 1998 के बाद का सबसे ऊंचा स्तर है. जानकारों का मानना है कि सऊदी अरब के प्लांट में तेल आपूर्ति सामान्य होने में कई हफ्ते लग सकते हैं.

इससे वैश्विक अर्थव्यवस्था को तो नुकसान होगा ही, सुस्ती का पहले से सामना कर रही भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए भी यह बड़ा झटका है.इस हमले से करीब 5 फीसदी ग्लोबल सप्लाई पर असर पड़ा है. अगले एक हफ्ते में ही कच्चे तेल की कीमतों में 15 से 20 डॉलर प्रति बैरल की बढ़त हो सकती है.

Leave a comment