पढ़िए- दिल्ली के इन 6 पूर्व मुख्यमंत्रियों के सफर की कहानी

नई दिल्ली [विनीत त्रिपाठी]। ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और सामरिक दृष्टि से समृद्ध दिल्ली देश ही नहीं वैश्विक स्तर पर आकर्षण का केंद्र है। देश की सत्ता का केंद्र होना भी दिल्ली के आकर्षण की एक बड़ी वजह है। ऐसे में यहां विधानसभा चुनाव की घोषणा होने के साथ ही कड़ाके की ठंड में सियासी पारा चढ़ गया है। आजादी के बाद से अब तक सात मुख्यमंत्री दिल्ली की कमान संभाल चुके हैं। चौधरी ब्रह्म प्रकाश सिंह, गुरुमुख निहाल सिंह से लेकर सुषमा स्वराज तक ने मुख्यमंत्री का ताज पहना, लेकिन सही मायने में देखा जाए तो दिल्ली की दबंग शीला दीक्षित ही रहीं। लगातार तीन बार मुख्यमंत्री बनीं शीला दीक्षित ने 15 साल तक दिल्ली पर राज किया। कांग्रेस से लेकर भाजपा तक को कुर्सी सौंपने वाली दिल्ली ने आंदोलन से निकली आम आदमी पार्टी को भी मौका दिया और प्रचंड 67 सीटें देकर अरविंद केजरीवाल को दिल्ली की कुर्सी सौंपी। अब एक बार फिर दिल्ली पर काबिज होने के लिए राजनीतिक दलों में सियासी घमासान शुरू हुआ है। ऐसे में दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्रियों के सफर की कहानी जानना लाजमी है।

Leave a comment