लंदन में अनुच्छेद- 370 हटाने का विरोध प्रदर्शन, भारतीय मूल के लोगों पर पत्थरबाजी और बोतलें फेंकी

15 अगस्त को लंदन में भारतीय हाई कमीशन के सामने विरोध के नाम पर गुंडागर्दी करने वाले 4 बदमाशों को ब्रिटिश पुलिस स्कॉटलैंड यार्ड ने धर दबोचा है. 15 अगस्त को लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग के सामने पाकिस्तानी संगठनों ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने के लिए विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया था. शांति पूर्ण प्रदर्शन करने के बजाय ये प्रदर्शनकारी गुंडागर्दी पर उतर आए और उच्चायोग में मौजूद भारतीय मूल के लोगों की तरफ पत्थरबाजी करने लगे और बोतलें फेंकने लगे. दरअसल पाकिस्तान समर्थित ये संगठन जहां विरोध कर रहे थे वहीं से कुछ दूरी पर भारत के समर्थन में भी कुछ लोग खड़े थे.

स्कॉटलैंड यार्ड का कहना है कि दो विरोधी संगठनों के बीच बैरिकेड लगा दिया गया था. जब प्रदर्शन चरम पर पहुंचा तो पाकिस्तानी प्रदर्शनकारी पत्थर और बोतलें फेंकने लगे.

लंदन की मेट्रोपोलिटिन पुलिस के मुताबिक इस घटना में एक शख्स घायल हो गया है. ब्रिटिश पुलिस ने कहा, "घटनास्थल पर प्रदर्शन आम तौर पर शांतिपूर्ण ही चल रहा था, लेकिन पुलिस अधिकारियों ने कुछ हुड़दंगियों के साथ सख्ती की. कुल मिलाकर 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया, इन्हें पब्लिक ऑर्डर एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया था, इनपर पुलिस के काम में बाधा डालना और घातक हथियार रखने का आरोप है.

लंदन पुलिस का कहना है कि भारत विरोधी प्रदर्शनकारी नारेबाजी कर रहे थे. भारत विरोधी प्रदर्शन करने वालों में खालिस्तान समर्थक तत्व भी शामिल थे. इन लोगों के विरोध में भारतीय समर्थकों ने तिरंगा लहराया और भारत माता की जय के नारे लगाए.

इससे पहले भारतीय दूतावास में स्वतंत्रता दिवस का कार्यक्रम धूमधाम से मनाया गया. लंदन में भारतीय कमिश्नर रुचि घनश्याम ने तिरंगा फहराया और 105 शहरों की यात्रा कर लंदन पहुंचने वाले वर्ल्ड पीस रैली के सदस्यों को सम्मानित किया. ये लोग 17000 किलोमीटर की यात्रा कर यहां पहुंचे थे. 

Leave a comment