प्रियंका गांधी बोली -हमारे नेताओं की तरह ही उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती पूर्व मुख्यमंत्रियों की तरह भारत के संविधान का सम्मान करते हैं.'

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कश्मीर के विपक्षी नेताओं की गिरफ्तारी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह पर सवाली हमले किये. साथ ही उन्होंने मोदी सरकार पर लोकतंत्र को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया है.

 

कश्मीर से जुड़े मामले को लेकर प्रियंका गांधी ने सिलसिलेवार दो ट्वीट किए. प्रियंका गांधी ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस नेताओं को गिरफ्तार करने का आधार क्या है? क्या मीडिया से बात करना कोई अपराध है? हमारे नेताओं की तरह ही पूर्व मुख्यमंत्रियों (उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती) को गिरफ्तार किए 15 दिन बीच चुके हैं जो भारत के संविधान का सम्मान करते हैं.'

 

प्रियंका गांधी ने इसके अगले ट्वीट में कहा, 'यहां तक कि उनके परिवारों को भी उनके साथ बातचीत करने की अनुमति नहीं दी गई है. क्या मोदी-शाह सरकार का अब भी मानना है कि भारत में लोकतंत्र है?'

 

इससे पहले शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर और वरिष्ठ कांग्रेस नेता रवींद्र शर्मा की गिरफ्तारी की खबर आई थी. इसके बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया था, ‘मैं जम्मू कश्मीर कांग्रेस प्रमुख गुलाम अहमद मीर और प्रवक्ता रवींद्र शर्मा को जम्मू में आज गिरफ्तार किए जाने की कड़ी निंदा करता हूं. एक राष्ट्रीय राजनीतिक दल के खिलाफ बेवजह के कार्रवाई से सरकार ने लोकतंत्र पर एक और हमला किया है. यह पागलपन कब खत्म होगा.’

बता दें कि बीते पांच अगस्त को मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटा दिया था. जिससे जम्मू-कश्मीर को मिले सभी विशेषाधिकार खत्म हो गए हैं. इसका कांग्रेस और जम्मू-कश्मीर की स्थानीय पार्टियां विरोध कर रही हैं.

Leave a comment