न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम चयन से पहले पृथ्वी शॉ का धमाका

न्यूजीलैंड इलेवन के खिलाफ पृथ्वी शॉ ने इंडिया ए की तरफ से अभ्यास मैच में 100 गेंदों पर 150 रनों की शानदार पारी खेली। सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ की शानदार शतकीय पारी की मदद से इंडिया-ए ने दूसरे अभ्यास मैच में मेजबान न्यूजीलैंड अंतिम एकादश को 12 रनों से हरा दिया। इंडिया-ए की यह लगातार दूसरी जीत है। अपनी चोट से उबरे हुए उन्होंने ग्रैंड अंदाज में वापसी की घोषणा की। टीम इंडिया में वापसी पर नजर रखे 20 वर्षीय पृथ्वी शॉ ने अपनी पारी में 22 चौके और दो छक्के लगाए। पृथ्वी शॉ की पारी निश्चित रूप से न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज में चयनकर्ताओं का ध्यान खींचेगी। 

इंडिया ए और न्यूजीलैंड इलेवन के बीच पहला टेस्ट 21 फरवरी से बेसिन रिजर्व हैमिल्टन में खेला जाना है। जबकि दूसरा टेस्ट 29 फरवरी से क्राइस्टचर्च में खेला जाएगा। इंडिया-ए ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 49.2 ओवर में 372 रन का स्कोर बनाया और फिर न्यूजीलैंड अंतिम एकादश को निर्धारित 50 ओवरों में छह विकेट पर 360 रन पर रोक दिया। इंडिया-ए से मिले 373 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेजबान न्यूजीलैंड अंतिम एकादश की टीम जैक बॉयले के 13० रनों के बावजूद लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाई। बॉयले ने 130 गेंदों पर 17 चौके लगाए।

उनके अलावा फिन एलेन ने 87, डेन क्लीवर ने नाबाद 44, कप्तान डेरील मिशेल ने 41 और सीन सोलिया ने 18 रनों का योगदान दिया। इंडिया-ए की ओर से ईशान पोरेल और क्रुणाल पांड्या ने दो-दो जबकि मोहम्मद सिराज और अक्षर पटेल ने एक-एक विकेट लिया। 

इससे पहले, इंडिया-ए ने 372 रनों का विशाल स्कोर बनाया। मेहमान टीम के लिए शॉ ने केवल 1०० गेंदों पर ही 22 चौके और दो छक्के लगाए। शॉ ने इस शतक के साथ ही भारतीय टीम के लिए अपना दावा ठोक दिया है। शॉ के अलावा विजय शंकर ने 58, मयंक अग्रवाल ने 32, क्रुणाल पांड्या ने 32, सूर्यकुमार यादव ने 26 और कप्तान शुभमन गिल ने 24 रनों का योगदान दिया। 

न्यूजीलैंड अंतिम एकादश के लिए कप्तान डेरील मिशेल ने तीन और जैक गिब्सन तथा एंड्रयू हेजलडाइन ने दो-दो और हेनरी शिल्पी तथा सीन सोलिया ने एक-एक विकेट लिया। 
इंडिया-ए और न्यूजीलैंड-ए के बीच अब 22 जनवरी से तीन अनाधिकारिक वनडे मैच खेले जाएंगे। इसके बाद दोनों टीमें 30 जनवरी से दो अनाधिकारिक टेस्ट मैच भी खेलेगी। 

आठ महीने माह के डोपिंग प्रतिबंध के बाद से पृथ्वी शॉ शानदार टच में दिखाई दे रहे हैं। लेकिन रणजी ट्रॉफी के पहले ही दिन कर्नाटक के खिलाफ उनके कंधे में चोट लग गई थी। इसके चलते उन्हें इंडिया ए से भी बाहर रहना पड़ा, लेकिन अभ्यास मैच में उनके सामने लक्ष्य साफ था। 

Leave a comment