डिजिटल इंडिया के 4 वर्ष पूरा होने पर एसटीपीआई लखनऊ- द्वारा सेमिनार का आयोजन।

भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स व सूचना प्रोद्योगिकी मंत्रालय की संस्था सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ़ इंडिया ने गोमतीनगर स्थित कार्यालय में डिजिटल इंडिया के 4 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर एक गोष्ठी का आयोजन किया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में आई टी व इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के विशेष सचिव श्री कुमार प्रशांत तथा विशिष्ठ अतिथि के रूप में आई टी इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के विशेष सचिव श्री ऋषिरेन्द्र कुमार आप उपस्थित रहे।

मुख्य अतिथि कुमार प्रशांत ने बताया की डिजिटल इंडिया भारत सर्कार की एक पहल है , जिसके तहत सरकारी विभागों को देश की जनता से जोड़ना है। इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है की बिना कागज के इस्तेमाल के सरकारी सेवाएं इलेक्ट्रोनिक रूप से जनता तक पंहुचा सके। इस योजन का एक उद्देश्य ग्रामीण इलाको को हाई स्पीड इंटरनेट के माध्यम से जोड़ना भी है। डिजिटल इंडिया के तीन कोर घटक हैं - 1 . डिजिटल आधारभूत ढांचे का निर्माण करना
2 . इलेक्ट्रॉनिक रूप से सेवाओं को जनता तक पहुंचना।
3 . डिजिटल साक्षरता।

विशिष्ठ अतिथी ऋषिरेन्द्र कुमार ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा की डिजिटल इंडिया प्रोग्राम भारत को डिजिटल तौर पर सशक्त बनाए के लिए शुरू किया गया कार्यक्रम है। इस अभियान के तहत शिक्षा अस्पताल समेत सभी स्वस्थ्य सेवाओं और सरकारी दफ्तरों को गाँवो से देश की राजधानी से जोड़ा जायेगा। जिसके माधयम से आम आदमी सरकार से प्रत्यक्ष तौर से जुड़ेगा।
एस.टी.पी.आई के अपर निर्देशक सूर्य कुमार पटनायक ने बताया की डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के अंतर्गत भारत बी पी ओ प्रोत्साहन योजना का प्रारम्भ किया गया है। जिसके अंतर्गत देश में 48300 सींटो क लक्ष्य रखा गया था एवं उत्तर प्रदेश में 8800 सींटो के सापेक्ष 3420 सींटो पर आवंटन हो चूका है जिससे की छोटे शहरों में रोजगार का सृजन हो रहा है। इस योजन का कार्यन्वयन एस पी टी आई के द्वारा किया जा रहा है।

यू पी ऐल सी के डीजीएम प्रवीण कुमार ने बताया की देश में STPI के 4 केंद्र हैं नोयडा ,लखनऊ ,प्रयागराज व कानपुर जिनके माध्यम से आईटी कंपनियों द्वारा 18508 करोड़ रुपये का सॉफ्टवेयर निर्यात किया जा रहा है। साथ ही मेरठ, आगरा ,गोरखपुर और बनारस में भी एस टी पी आई के माध्यम से आईटी पार्क का निर्माण कराया जा रहा है।

कार्यक्रम में मुख्या वक्त के रूप में आईटी लखनऊ के कंप्यूटर विभाग के प्रोफ़ेसर एस पी त्रिपाठी स्टार्टअप एडुगोरिल्ला के संस्थापक व मुख्य कार्यकारी अधिकारी रोहित मांगलिक ,प्रोयुगा टेक्नोलोजीस के सीनियर वॉइस प्रेसीडेन्ट ससांक परिमि यू पी एल सी के डीजीएम ने भी सभा को सम्बोधित किया।

Leave a comment