अब व्हाट्सएप-ईमेल के जरिए भेजे जा सकेंगे समन, सुप्रीम कोर्ट ने दी इजाजत

कोरोना वायरस की वजह से लागू हुए लॉकडाउन के कारण अब अधिकतर काम डिजिटल हो चला है. सुप्रीम कोर्ट ने भी इस दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कई मामलों की सुनवाई की. अब शुक्रवार को सर्वोच्च अदालत ने एक और बड़ा फैसला सुनाया है. अब कोई भी समन या नोटिस व्हाट्सएप के जरिए भेजे जा सकेंगे.

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को इस बात की इजाजत दी है. अब व्हाट्सएप, टेलिग्राफ के जरिए समन या नोटिस भेजे जा सकेंगे. साथ ही ई-मेल के जरिए भी इसे संबंधित व्यक्ति को भेजा जाएगा. अगर व्हाट्सएप पर ब्लू टिक आता है, तो ये मान लिया जाएगा कि रिसीवर ने नोटिस को देख लिया है.

गौरतलब है कि इससे पहले फिजिकली तौर पर ही नोटिस और समन भेजे जाते थे. ऐसे में कई बार दिक्कतों का सामना करना पड़ता था.

एक मामले की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस एस.ए. बोबडे, जस्टिस बोपन्ना और जस्टिस रेड्डी ने इस निर्देश को जारी किया.

आपको बता दें कि कोरोना संकट के बाद से ही सुप्रीम कोर्ट समेत अन्य अदालतों में ऑनलाइन सुनवाई हो रही है. शुरुआत में सिर्फ सुप्रीम कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई हो रही थी, बाद में हाई कोर्ट और सेशन कोर्ट को भी इसकी इजाजत दी गई.

मार्च से लेकर अबतक सुप्रीम कोर्ट ने कई अहम मामलों की सुनवाई और उनका निपटारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही किया है. फिर चाहे कोरोना संकट पर कोई मामला हो या फिर प्रवासी मजदूरों को लेकर दायर याचिका हो.

Leave a comment