धोखेबाज पार्टनर को दूसरा मौका देने में यकीन रखते हैं ज्यादातर लोग: स्टडी

डेटिंग और पार्टनर को लेकर लोगों की पसंद ना पसंद बदलती रहती है. इसी ट्रेंड को जानने के लिए एक्स्ट्रा मेरिटल डेटिंग ऐप ग्लीडेन ने हाल ही में भारतीयों पर एक सर्वे किया है. रिपोर्ट के अनुसार, डेटिंग ऐप ने ये सर्वे 34-49 साल के अपने 1,000 यूजर्स पर किया है. इस सर्वे में मुंबई, दिल्ली, एनसीआर, चेन्नई, बेंगलुरु, पुणे और हैदराबाद के लोगों ने हिस्सा लिया.

क्या कहता है सर्वे?

सर्वे में शामिल 72 फीसदी लोगों ने Covid-19 प्रतिबंध हटने के बाद अपने ऑनलाइन डेट से मिलने की इच्छा जताई है. सर्वे में शामिल कई लोगों ने बेवफाई को एक अपराध माना. इनका कहना था कि धोखा देने वाले पार्टनर को माफ नहीं किया जा सकता है, वहीं सर्वे में कई ऐसे भी लोग थे जो धोखा मिलने के बावजूद पार्टनर को दूसरा मौका देने के लिए तैयार थे.

सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार, '36.9 फीसदी लोग धोखा मिलने के बावजूद बिना किसी शर्त के अपने पार्टनर को माफ करने के लिए तैयार थे जबकि 40.1 फीसदी लोगों का कहना था कि उनका भविष्य धोखा देने की वजह पर निर्भर करता है. वहीं लगभग 23 फीसदी यूजर्स ने धोखा मिलने के बाद रिश्ते से बाहर निकलने की इच्छा जताई.'

क्या इनसिक्योर है आपका पार्टनर? इन 5 बातों से करें पता

रिपोर्ट में कहा गया है कि आजकल लोग अपने रिश्ते और जिंदगी को लेकर पहले से ज्यादा व्यवहारिक हो गए हैं. साथी के साथ मनमुताबिक रिश्ता ना चल पाने पर भी लोग उस रिश्ते को खत्म करने की बजाए, उससे बाहर दूसरे रिश्ते में खुशियां ढूंढने की कोशिश कर रहे हैं. सर्वे में लगभग 48.1 फीसदी लोगों ने माना कि वे एक ही समय में दो अलग-अलग लोगों को प्यार कर सकते हैं, जबकि 44.5 फीसदी लोग इसके खिलाफ थे.

 

Leave a comment