महाजन ने कहा : आप लोग एक दूसरे के दिल की बात पहचानो तो मुझे आसानी होगी...

गडकरी ने कहा : प्रयाग में पहली बार गंगा इतनी निर्मल और अविरल है

दिल्ली : लोकसभा में विभिन्न मुद्दों पर सदस्यों के शोर शराबा होने की पृष्ठभूमि में स्पीकर सुमित्रा महाजन ने बृहस्पतिवार को सदन में प्रश्नकाल के दौरान कहा कि अगर सदस्य के एक दूसरे का दिल की बात पहचाने तो उनके लिए आसानी हो जाएगी. दरअसल, प्रश्नकाल में आकाशवाणी और दूरदर्शन के संबंध पूरक प्रश्न पूछते हुए माकपा के ए संपत ने कहा कि वह पहले आकाशवाणी में कैजुअल उद्घोषक रह चुके हैं, इसलिए दिल से यह सवाल पूछ रहे हैं. उनके प्रश्न का जवाब देते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि माननीय सदस्य ने दिल से सवाल पूछा है तो मैं इसका जवाब दिल से दूंगा. इस पर सुमित्रा महाजन ने कहा कि अगर आप लोग इसी तरह एक दूसरे के दिल को पहचाने तो मेरे लिए बहुत आसानी हो जाएगी.

इस बीच, पूरक प्रश्नों के उत्तर में राठौड़ ने कहा कि देश की 99 फीसदी से अधिक आबादी तक आकाशवाणी की पहुंच है तथा दूरदर्शन एवं आकाशवाणी के कार्यक्रमों की गुणवत्ता में सुधार के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार क्रिकेट एवं दूसरे खेलों की कमेंट्री के प्रसारण दूरदर्शन एवं आकाशवाणी पर करने के लिए निजी क्षेत्र के लोगों से बात कर रही है.

उनके प्रश्न का जवाब देते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि माननीय सदस्य ने दिल से सवाल पूछा है तो मैं इसका जवाब दिल से दूंगा. इस पर सुमित्रा महाजन ने कहा कि अगर आप लोग इसी तरह एक दूसरे के दिल को पहचाने तो मेरे लिए बहुत आसानी हो जाएगी. इस बीच, पूरक प्रश्नों के उत्तर में राठौड़ ने कहा कि देश की 99 फीसदी से अधिक आबादी तक आकाशवाणी की पहुंच है तथा दूरदर्शन एवं आकाशवाणी के कार्यक्रमों की गुणवत्ता में सुधार के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि सरकार क्रिकेट एवं दूसरे खेलों की कमेंट्री के प्रसारण दूरदर्शन एवं आकाशवाणी पर करने के लिए निजी क्षेत्र के लोगों से बात कर रही है.

इस बीच लोकसभा में बृहस्पतिवार को भारतमाला परियोजना से संबंधित प्रश्न के उत्तर के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के काम की काफी सराहना भी हुई, और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी इस दौरान मेज थपथपाकर अपना समर्थन जताया. सदन में प्रश्नकाल के दौरान सड़क परिवहन मंत्री गडकरी भारतमाला परियोजना, दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे और चारधाम परियोजना से संबंधित प्रश्नों के उत्तर दे रहे थे.

गडकरी ने कहा, ''मेरी यह विशेषता है और मैं इसके लिए खुद को भाग्यवान समझता हूं कि हर पार्टी के सांसद कहते हैं कि उनके क्षेत्र में अच्छा काम हुआ है.'' जल संसाधन और गंगा संरक्षण मंत्रालय का प्रभार भी संभाल रहे गडकरी ने उत्तराखंड के चार धामों को जोड़ने वाली परियोजना से संबंधित प्रश्न का उत्तर देते हुए गंगा का जिक्र किया और कहा कि प्रयाग में पहली बार गंगा इतनी निर्मल और अविरल है.

उन्होंने लोकसभाध्यक्ष से कहा, ''अध्यक्ष महोदया आप एक बार जाकर देखिए कि गंगा के लिए भी कितना काम हुआ है.'' इस पर अध्यक्ष महाजन ने कहा कि काम हुआ है और 'हमारा आशीर्वाद आपके साथ है.'' मंत्री के जवाब के बाद भाजपा के गणेश सिंह ने लोकसभाध्यक्ष से अनुरोध किया कि गडकरी ने देश में इतना काम किया है, उनके लिए सदन को धन्यवाद प्रस्ताव पारित करना ही चाहिए.

Leave a comment