एमपी बोर्ड ने जारी किया 10वीं का रिजल्ट, 62.84% छात्र पास

MP Board MPBSE Class 10th: मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (MPBSE) ने कक्षा 10वीं के रिजल्ट की घोषणा कर दी है. पहले ही बता दिया गया था रिजल्ट 12 बजे जारी कर दिए जाएंगे.

जो छात्र 10वीं की इस परीक्षा में शामिल हुए हैं, वह रिजल्ट जारी होने के तुरंत बाद mpbse.nic.in, mpresults.nic.in. पर जाकर अपना स्कोर चेक कर सकते हैं. इस साल परीक्षा में 62.84% छात्र हुए पास हुए हैं. रिजल्ट पिछले साल की तुलना में बेहतर है.

पिछले साल एमपी बोर्ड 10वीं का रिजल्ट 61.32 फीसदी रहा था. 10वीं में लड़कियों का रिजल्ट लड़कों से बेहतर रहा था. एमपी बोर्ड 10वीं में 63.69% लड़कियां और 59.15% लड़के पास हुए थे. एमपी बोर्ड 10वीं में सागर जिले के गगन दीक्षित और आयुष्मान ताम्रकार ने टॉप किया था. दोनों के 500 में से 499 मार्क्स थे.

कैसा रहा 2020 का MP बोर्ड का 10वीं का रिजल्ट

इस साल लड़कों की तुलना में लड़कियों ने बाजी मारी है. 65.87% छात्राएं हुई पास वहीं 60.09% छात्र पास हुए हैं. 8,91,866 छात्रों में से 3,42,390 छात्र फर्स्ट डिवीजन में पास हुए. 2,15,163 सेकंड डिवीजन में पास हुए और 2,922 छात्र थर्ड डिवीजन में पास हुए हैं. कुल मिलाकर इस साल 5,60,474 छात्र पास हुए हैं.

बता दें, सरकारी स्कूलों का रिजल्ट प्राइवेट स्कूलों से बेहतर रहा है. सरकारी स्कूलों का रिजल्ट 63.64 फीसदी तो प्राइवेट स्कूलों का 61.65 फीसदी रिजल्ट रहा है.

बता दें, ऐसा पहली बार हुआ है जब मध्य प्रदेश बोर्ड ने कक्षा 10वीं और 12वीं के रिजल्ट अलग-अलग घोषित करने का फैसला लिया है. बोर्ड के अनुसार, कक्षा 12 परीक्षा की मूल्यांकन प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है, और रिजल्ट को महीने के अंत में घोषित किया जाएगा.

कितने छात्रों ने दी थी परीक्षा

इस साल कक्षा 10वीं की परीक्षा में 11 लाख से अधिक छात्र उपस्थित हुए हैं. इस साल 10वीं बोर्ड की परीक्षा 3 मार्च से शुरू होकर 27 मार्च तक होनी थी लेकिन कोरोना वायरस की वजह से 7 पपर हो पाए थे. 23 मार्च और 27 मार्च के पेपर रद्द कर दिए गए थे.

कब मिलेगी मार्कशीट

राज्य के स्कूलों के दोबारा खुलने पर छात्रों को मार्कशीट दी जाएगी. अब तक, छात्रों को अपने रिजल्ट का एक प्रिंटआउट लेने की सलाह दी जाती है, जो एक अंतिम मार्कशीट के रूप में काम करेगा.

फर्स्ट डिवीजन में कितने अंकों की जरूरत

60 प्रतिशत अंकों वाले उम्मीदवारों को फर्स्ट डिवीजन में माना जाता है. सेकंड डिवीजन में 45 प्रतिशत और उससे अधिक अंकों की आवश्यकता होगी. तीसरे डिवीजन में, न्यूनतम 33 प्रतिशत अंक और उससे अधिक वाले छात्रों को माना जाता है. वहीं परीक्षा पास करने के लिए कम से कम 33 प्रतिशत अंकों की जरूरत होती है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि कोरोना वायरस के कारण कुछ परीक्षाओं को रद्द करना पड़ा. ऐसे में आयोजित की गई परीक्षाओं के आधार पर कक्षा 10वीं के रिजल्ट तैयार किए जाएंगे. "रद्द किए गए विषयों के लिए, छात्रों को उनकी मार्कशीट पर री-मार्क 'पास' मिलेगा.

MP Board 10th Result 2020: कैसे करें चेक

स्टेप 1- सबसे पहले मध्यप्रदेश बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट mpbse.nic.in पर जाएं.

स्टेप 2- " MP Board 10th result 2020" लिंक पर क्लिक करें.

स्टेप 3- मांगी गई जरूरी जानकारी भरें और सबमिट करें.

स्टेप 4- रिजल्ट स्क्रीन पर दिखने लगेगा.

स्टेप 5- भविष्य के लिए प्रिंटआउट लेना न भूलें

Leave a comment