सरकार बचाने के लिये सक्रिय हुए कुमारस्वामी, शुक्रवार को दे सकते हैं स्तीफा।

कर्नाटक की मौजूदा जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन की सरकार का जाना लगभग तय हो गया है. मुख्यमंत्री कुमारस्वामी 12 जुलाई को इस्तीफा दे सकते हैं. जेडीएस के एक वरिष्ठ नेता ने इस बात की पुष्टि की है.

कांग्रेस और जेडीएस सहित 13 विधायकों के इस्तीफे के बाद कुमारस्वामी की नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार की स्थिरता पर गंभीर संकट है. यदि स्पीकर इन विधायकों के इस्तीफे को स्वीकार करते हैं तो सरकार अल्पमत में आ जाएगी. 

रविवार को अमेरिका दौरे से लौटने के बाद मुख्यमंत्री कुमारस्वामी सरकार बचाने के लिए सक्रिय हो गए हैं. कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक के बाद उन्होंने सरकार बचाने के लिए आखरी कोशिश के रूप में बागी विधायकों (इस्तीफा दे चुके विधायकों) को करीबियों के जरिए यह संदेश भिजवाया है कि वह अपना इस्तीफा वापस लें. उन्हें मंत्री बनाया जाएगा. 

कांग्रेस और जेडीएस ने अपने भरोसे के मंत्रियों से आग्रह किया है कि वह सरकार बचाने के लिए मंत्रीपद छोड़ दें ताकि बागी विधायकों को मंत्री के रूप में समायोजित किया जा सके. जेडीएस सूत्रों का कहना इस कोशिश को लेकर कांग्रेस ज्यादा उम्मीद नहीं रख रही है. कांग्रेस नेताओं का कहना है कि इस कदम से सरकार भले फिलहाल बच जाए लेकिन पार्टी के टूटने का खतरा है और यह कोई स्थाय़ी उपाय नहीं है. 

यदि सरकार बचाने की कोशिश में ज्यादा देर की गई तो हो सकता है कि कुछ और विधायक इस्तीफा दे दें. ऐसे में सर्वसम्मत रूप से इस बात पर सहमति बन सकती है कि कुमारस्वामी विधानसभा सत्र शुरू होते ही (12 जुलाई) को विधानसभा भंग करने की सिफारिश करते हुए इस्तीफा दे दें.

Leave a comment