बहरीन ओपन टेटे में भारतीय लड़कियों ने जीते चार मेडल

मुम्बई : भारत की युवा लड़कियों बहरीन के मानामा में जारी बहरीन जूनियर एंड कैडेट ओपन टेबल टेनिस(टेटे) टूर्नामेंट में अपनी चमक बिखेरते हुए कुल चार पदक हासिल किए। इनमें एक स्वर्ण, दो रजत और एक कांस्य शामिल है। भारत की सभी टीमें कैडेट गर्ल्स टीम कटेगरी में शामिल थीं। इन टीमों ने शानदार प्रदर्शन कर इस आईटीटीएफ प्रीमियम जूनियर सर्किट टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में जगह पक्की की। टीम इंडिया-2 में यशस्विनी घोरपड़े और काव्या बास्कर शामिल थीं। इन दोनों का मिस्र-1 टीम का सेमीफाइनल में सामना हुआ। दूसरा सेमीफाइनल दो भारतीय टीमों के बीच खेला गया। यशस्विनी ने अपने दोनों एकल मैच जीते। इसमें एक निर्णायक मुकाबला भी था, जिसे जीतकर इंडिया-2 टीम ने फाइनल में जगह पक्की की। यशस्विनी ने मिस्र की फरीदा बाडावे और हाना गोडा को हराया। इंडिया-1 टीम में सुहाना सैनी और अनार्ग्या मंजूनाथ शामिल थीं। इन दोनों ने इंडिया-3 टीम की राधिका सकपाल और हार्डी पटेल को 3-0 से हराकर फाइनल में अपने ही देश की जोड़ीदारों से भिड़ने का श्रेय हासिल किया। इंडिया-3 टीम को अपने प्रयासों की बदौलत कांस्य पदक मिला।

फाइनल में सुहाना और अनार्ग्या ने यशस्विनी और काव्या को 3-0 से हराया और स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इंडिया-2 टीम को रजत पदक मिला।भारत जूनियर गर्ल्स कटेगरी में टीम उतारने वाले पांच देशों में से एक था। जूनियर गर्ल्स टूर्नामेंट राउंड रोबिन फॉरमेट पर खेला गया। हर टीम को एक जीत के लिए दो तथा हार के लिए एक अंक मिला। भारतीय टीम, जिसमें मंजूश्री पाटिल और सात्विका घोष शामिल थीं, ने सीरिया की आाया अली और ग्रीस की मालामातेनिया की जोड़ी को 3-0 से हराया।इस जोड़ी ने मिस्र-1 टीम के खिलाफ भी 3-2 से जीत दर्ज की और फिर मिस्र-2 टीम को भी 3-1 से हराया। इस टीम ने इस तरह तीन लगातार जीत दर्ज की। इस टीम को हालांकि रूस के खिलाफ हार मिली। रूस नें इस वर्ग का खिताब जीता। भारतीय टीम को 0-3 की हार के साथ रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

Leave a comment