इन स्कूलों में बच्चे "Yes Sir" नहीं बल्कि कहते हैं "जय हिन्द"

हमारा देश और ये नई पीढ़ी चाहे जितना आगे निकल आगी हो लेकिन आज भी कुछ ऐसे जगह हैं जहाँ हमारे संस्कारों को ध्यान में रखकर पढ़ाई होती है. बच्चे और समाज मॉडर्न हो जाएँ पर संस्कार नहीं भूलने चाहिए. 'नई दुनिया' के एक रिपोर्ट के मुताबिक मध्य प्रदेश के स्कूलों में अब हाजिरी के दौरान छात्र-छात्राएं 'यस सर' की बजाय 'जय हिंद' बोलेंगे.

मंगलवार को इस संबंध में राज्य शासन ने आदेश जारी कर दिए हैं. इस आदेश के अंतर्गत, विद्यार्थियों में देशभक्ति की भावना जागृत करने के लिए यह निर्णय लिया गया है. इसपर शासन का कहना है कि अभी स्कूलों में हाजिरी के लिए अलग-अलग शब्द बोले जाते हैं, लेकिन अब सब 'जय हिंद' ही बोलेंगे. हालाँकि आदेश में ये स्पष्ट नहीं है कि क्या राज्य के निजी स्कूलों में भी हाजिरी के दौरान 'जय हिंद' बोला जाएगा.

केंद्रीय राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह का कहना है कि केंद्रीय कर्मचारियों को पेंशन के लिए आधार ज़रूरी नहीं है. स्वैच्छिक एजेंसियों की स्थायी समिति की 30वीं बैठक में उन्होंने कहा कि आधार एक अतिरिक्त सुविधा है. इसके आगे उन्होंने कहा कि इसके ज़रिए जीवन प्रमाण पत्र जमा करने के लिए टेक्नोलॉज़ी का इस्तेमाल किया जा सकता है व इसके लिए बैंकों में जाने कि भी आवशयकता नहीं है. केंद्र सरकार के 61 लाख से अधिक पेंशनभोगी कर्मचारी हैं.

Leave a comment