मोदी के भाषण के बाद भावुक हुए ISRO चीफ सिवन, पीएम ने गले लगाकर थपथपाई पीठ

बैंगलुरू: 'चंद्रयान-2' की आज चांद पर लैंडिंग होनी थी, लेकिन लैंडर 'विक्रम' का चांद पर उतरते समय सतह से 2.1 किलोमीटर पहले इसरो से संपर्क टूट गया. इसके बाद इसरो केंद्र सहित पूरे देश में सन्नाटा पसर गया. हर कोई सन्न रह गया. इस दौरान पीएम मोदी भी कल रात से इसरो केंद्र मौजूद थे. संपर्क टूटने की खबर मिलने के बाद पीएम मोदी वैज्ञानिकों के बीच गए और उनका हौंसला बढ़ाया. आज सुबह 8 बजे पीएम मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया. इस दौरान इसरो प्रमुख के. सिवन भावुक हो गए.

इसरो के कंट्रोल सेंटर से देश को  संबोधित करते हुए कहा है कि देश को अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाते हुए कहा, '' आप वो लोग हैं जो मां भारती के लिए, उसकी जय के लिए जीते हैं. आप वो लोग हैं जो मां भारती के लिए जूझते हैं. आप वो लोग हैं जो मां भारती के लिए जज्बा रखते हैं. मां भारती का सर ऊंचा हो, इसके लिए पूरा जीवन खपा देते हैं.''

पीएम मोदी राष्ट्र और वैज्ञानिकों को संबोधित करने के बाद इसरो केंद्र में घूमे और वहां मौजूद सभी वैज्ञानिकों से एक-एक करके मिले. इस दौरान पीएम मोदी जब इसरो केंद्र से अपनी गाड़ी की तरफ जा रहे थे, तभी इसरो प्रमुख के सिवन भावुक हो गए. इसके बाद पीएम मोदी ने उन्हें अपनी तरफ खींचकर गले लगा लिया और काफी देर तक उनकी पीठ थपथपाते रहे. इस दौरान पीएम मोदी भी भावुक नज़र आए.

Leave a comment