उनका मरना देखा जमाने ने, एक मोदी सरकार है जिसे खबर ना हुई - राहुल

संसद के मॉनसून सत्र में सरकार से पूछे गये एक सवाल में, कि लॉकडाउन में कितने मजदूरों की जान गई, सरकार ने कहा कि उनके पास आंकड़ा नहीं है। राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मज़दूर मरे और कितनी नौकरियां गईं।

तुमने ना गिना तो क्या मौत ना हुई?
हाँ मगर दुख है सरकार पे असर ना हुई,
उनका मरना देखा ज़माने ने,
एक मोदी सरकार है जिसे ख़बर ना हुई।

कोरोना संकट के समय जब देश में लॉकडाउन लगा तो लाखों की संख्या में प्रवासी मजदूर सड़कों पर थे, इस दौरान कई की मौत भी हुई ।सोमवार को संसद में सवाल पूछा गया था कि लॉकडाउन के दौरान हजारों मजदूरों की मौत हुई है, क्या सरकार के पास कोई आधिकारिक आंकड़ा है। इसपर सरकार की ओर से जवाब दिया गया कि उनके पास ऐसा कोई आंकड़ा नहीं है. सरकार ने कहा कि लॉकडाउन में करीब 80 करोड़ लोगों को अतिरिक्त राशन दिया गया है, ये प्रक्रिया नवंबर तक जारी रहेगी।सोनिया गांधी अपना सालाना मेडिकल चेकअप करवाने के लिए विदेश में हैं, जहां राहुल गांधी उनके साथ हैं। राहुल सोशल मीडिया के जरिए लगातार सरकार को घेर रहे हैं।

 

Leave a comment