परमाणु नीति पर बोले राजनाथ,

पांचवीं अंतरराष्ट्रीय आर्मी स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता के समापन समारोह में प्रतिभागियों को पुरस्कृत करने के लिए राजस्थान के जैसलमेर पहुंचे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भारत की परमाणु नीति के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि परमाणु आयुध को लेकर अब तब हमारी नीति पहले इस्तेमाल न करने की रही है। अब भविष्य में क्या होता है, यह उस वक्त के हालात पर निर्भर करता है।

 

पांचवीं अंतरराष्ट्रीय आर्मी स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता में भारत को पहला स्थान प्राप्त हुआ है। इसमें भारत के साथ रूस, चीन, आर्मेनिया, बेलारूस, कजाखस्तान, सूडान और उज्बेकिस्तान की टीमों ने भाग लिया। उन्होंने उम्मीद जताई कि भारत, रूस, चीन और मध्य एशिया के अन्य देशों के बीच सहयोग आने वाले दिनों में और मजबूत होगा।

राजनाथ सिंह ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि आनेवाले समय में हमारा और आपका साथ और अधिक बढ़ेगा। हम आपसी सहयोग बढ़ाकर एक साथ विश्व की कठिन चुनौतियों तथा खतरों का सामना करने में सक्षम बनेंगे और साथ ही भविष्य में हमें आपसी संबंध बढाने के और भी मौके मिलेंगे।

उन्होंने विश्वास जताया कि इस प्रकार के आयोजनों से प्रतिभागी देशों के परस्पर रिश्ते और गहरे होंगे। वैसे इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी देशों के साथ हमारे पहले से ही मित्रतापूर्ण रिश्ते रहे हैं।

 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने परमाणु परीक्षण स्थल पोकरण में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।  मई 1998 में परमाणु परीक्षण के समय अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री थे।
 

ANI @ANI
 

Rajasthan: Defence Minister Rajnath Singh pays tribute to former PM , on his first death anniversary, in Pokhran. Nuclear Test was conducted in May 1998 in Pokhran when Vajpayee was the Prime Minister.

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

Leave a comment