पिता की 22 साल पहले हुई थी हत्या, जान लेकर बेटों ने लिया बदला

राजस्थान के अलवर जिले में एक हिस्ट्रीशीटर की हत्या के मामले में पुलिस ने तीन सगे भाइयों को गिरफ्तार किया है. पुलिस का दावा है कि तीनों ने 22 साल पहले हुई अपने पिता की हत्या का बदला लेने के लिए हिस्ट्रीशीटर अब्दुल रज्जाक की गोली मारकर हत्या कर दी.

गौरतलब है कि हिस्ट्रीशीटर रज्जाक की 20 अगस्त को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. रज्जाक को आधा दर्जन गोलियां मारी गई थीं. हत्या उस समय की गई थी, जब रज्जाक पेट्रोल पंप के पास अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ बैठा था.

बाइक सवार हथियारबंद युवकों ने उस पर अंधाधुंध फायरिंग की और भाग गए. अब्दुल रज्जाक की मौके पर ही मौत हो गई थी. घटना को लेकर अब्दुल रज्जाक के भाई रत्ती मोहम्मद ने 6 लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया था.

मृतक अब्दुल रज्जाक के परिवार और आरोपियों के परिवार के बीच रंजिश दशकों पुरानी है. दोनों परिवारों के बीच लगभग 40 वर्ष से रंजिश चली आ रही है. दोनों परिवार एक ही गांव में रहते हैं. घटनाक्रम के मुताबिक 1983 में अब्दुल रज्जाक के पिता पर प्राण घातक हमला हुआ था. इसमें अब्दुल रहमान आरोपी थे.

तब पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार भी किया था. 11 सितम्बर 1997 को अब्दुल रज्जाक और उसके भाईयों ने अब्दुल रहमान पर हमला कर दिया. अगले दिन रहमान की मौत हो गई थी.

Leave a comment