रामलला के प्रधान अर्चक सत्येंद्रदास व इकबाल की इच्छा

अयोध्या, दिगंबर अखाड़ा के महंत सुरेशदास, मस्जिद के पैरोकार रहे मो. इकबाल अंसारी तथा रामलला के प्रधान अर्चक आचार्य सत्येंद्रदास ने अपेक्षा जताई है कि रामलला के मंदिर की आधारशिला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने हाथों से रखें। आधारशिला के रूप में वही शिला प्रयुक्त हो, जिसे साकेतवासी परमहंस रामचंद्रदास ने 2002 में तत्कालीन प्रधानमंत्री के दूत के रूप में आए आइएएस अधिकारी शत्रुघ्न सिंह को सौंपा था। महंत सुरेशदास साकेतवासी परमहंस के शिष्य हैं। वह उनकी जगह अदालत में रामलला की पैरोकारी करते रहे हैं। इसी हैसियत से उन्होंने सोमवार को मांग उठाई कि मंदिर में उस शिला का प्रयोग हो, जिसे मंदिर निर्माण की मंशा से उनके गुरु ने 18 वर्ष पूर्व दान किया था। अब उन्होंने अपनी मांग में जोड़ा कि मंदिर की आधारशिला रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या आएं। आचार्य सत्येंद्रदास ने भी ऐसी ही इच्छा जताई।

Leave a comment