दिल्ली हिंसा: PFI के अध्यक्ष परवेज और सचिव इलियास गिरफ्तार, पूछताछ जारी

दिल्ली हिंसा मामलों की जांच कर रही पुलिस की स्पेशल सेल ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के प्रेसिडेंट परवेज और सेक्रेटरी इलियास को गिरफ्तार किया है. पीएफआई पर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) प्रदर्शन के दौरान लोगों को भड़काने और फंडिंग करने का आरोप है.

  • PFI के अध्यक्ष-सचिव पर हिंसा भड़काने का आरोप
  • इससे पहले पुलिस ने दानिश को किया था गिरफ्तार

दिल्ली हिंसा मामलों की जांच कर रही पुलिस की स्पेशल सेल ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के प्रेसिडेंट परवेज और सेक्रेटरी इलियास को गिरफ्तार किया है. इन पर दिल्ली हिंसा भड़काने का आरोप है. दोनों से पूछताछ की जा रही है. यह पूछताछ फंडिंग को लेकर भी हो रही है.

इससे पहले ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े केस में परवेज अहमद से पूछताछ की थी. उन्होंने तब इनकार कर दिया था कि पीएफआई और एंटी सीएए विरोध (जो हिंसक हो गए थे) के बीच कोई संबंध था. हालांकि ईडी के पास यह दिखाने के लिए सबूत थे कि पीएफआई और रिहैब फाउंडेशन ऑफ इंडिया से जुड़े अलग-अलग बैंक खातों में 120 करोड़ से अधिक रुपये जमा किए गए थेऔर हिंसक प्रदर्शन के दौरान इन पैसों को निकाला गया था.

पीएफआई पर ईडी ने दर्ज किया था मामला

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को पीएफआई के खिलाफ एक ताजा मामला दर्ज किया था. ईडी ने दिल्ली पुलिस की एफआईआर का संज्ञान लेकर यह मामला दर्ज किया था. मोहम्मद दानिश सहित 2 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. मोहम्मद दानिश कथित रूप से पीएफआई का सदस्य है, जिस पर सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के लिए फंडिंग करने का आरोप है.

दानिश को किया गया था गिरफ्तार

इससे पहले दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पीएफआई के सदस्य दानिश को गिरफ्तार किया था. उसे सीएए विरोध प्रदर्शनों के दौरान कथित रूप से दुष्प्रचार करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने कहा था कि दानिश पीएफआई के काउंटर इंटेलिजेंस विंग का प्रमुख है और शहर भर में सीएए विरोधी प्रदर्शन में सक्रिय रूप से भाग लेता रहा है.

कश्मीरी दंपति को किया गया था गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बीते रविवार को ओखला से एक कश्मीरी दंपति को इस्लामिक स्टेट (आईएस) खुरासान मॉड्यूल के साथ कथित संबंधों के आरोप में गिरफ्तार किया था. इस जोड़े की पहचान जहांजेब सामी (पति) और हिना बशीर बेग (पत्नी) के रूप में की गई है. पुलिस ने उनके पास से कुछ आपत्तिजनक सामग्री जब्त की है और उनसे पूछताछ की जा रही है.

यूपी में पीएफआई के 108 सदस्य गिरफ्तार

पीएफआई पर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) प्रदर्शन के दौरान लोगों को भड़काने और फंडिंग करने का आरोप है. उत्तर प्रदेश में भी सीएए के विरोध के दौरान हिंसा फैलाने में पीएफआई की अहम भूमिका सामने आने के बाद कार्रवाई की जा रही है. शुरुआती कार्रवाई करते हुए अब तक पीएफआई के 108 सदस्य गिरफ्तार किए गए हैं. पुलिस के मुताबिक, पहले भी पीएफआई के 25 पदाधिकारी और सदस्य गिरफ्तार हो चुके हैं.

यूपी के 13 जिलों पीएफआई संगठन सक्रिय

यूपी पुलिस का कहना है कि 13 जिलों में पीएफआई संगठन सक्रिय है. 108 गिरफ्तारियां में लखनऊ से 14, सीतापुर से तीन, मेरठ से 21, गाजियाबाद से 9, मुजफरनगर से 6, शामली से सात, बिजनौर से 4, वाराणसी से 20, कानपुर से 5, गोंडा से एक, बहराइच से 16, हापुड़ से एक और जौनपुर से एक सदस्य को गिरफ्तार किया गया.

Leave a comment