जोधपुर में जानलेवा कोरोना :महिला समेत दो संक्रमितों की मौत; जुलाई के 15 दिन में 23 मरीजों की जान गई

जोधपुर में कोरोना हर तरफ फैल चुका है। संक्रमितों की संख्या में आए उछाल के साथ ही मरने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ना शुरू हो गई है। शहर में बुधवार सुबह दो कोरोना संक्रमित की मौत हो गई। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण से अब तक 74 लोग जान गंवा चुके हैं। शहर में कोरोना मरीजों की संख्या चार हजार को पार कर गई है। संक्रमितों की कुल संख्या के मामले में जोधपुर अब जयपुर को पछाड़ कर पहले स्थान पर पहुंच चुका है।  

जोधपुर में जुलाई माह के 15 दिनों में 23 मौतें हो चुकी हैं। कुल संक्रमितों की संख्या के मामले में जोधपुर भले ही पहले स्थान पर पहुंच गया हो, लेकिन जयपुर के मुकाबले यहां पर आधे से भी कम मौत हुई है। जयपुर में अब तक 176 व जोधपुर में 74 जनों की मौत हुई है। शहर के राजबाग क्षेत्र निवासी 73 वर्षीय पून्नी बाई की कल मौत हो गई थी। मौत के बाद लिए गए सैंपल में वे आज कोरोना पॉजिटिव पाई गई। जबकि कमला नेहरू नगर निवासी 86 वर्षीय दुर्गाप्रसाद को तबीयत खराब होने पर 9 जुलाई को महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कल देर रात उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई।

जोधपुर में सबसे अधिक संक्रमित
जोधपुर प्रदेश में काेराेना मरीजों के मामले में नंबर एक पर पहुंच गया। मंगलवार को जोधपुर में 128 रोगी मिले और एक मौत हुई। जयपुर में 39 नए राेगी मिले। दाेनाें शहरों में मरीजों का आंकड़ा चार हजार के पार पहुंच गया, लेकिन जोधपुर में मरीजों की संख्या 49 ज्यादा हो गई। जोधपुर में अब 4051 और जयपुर में 4002 रोगी हैं। लेकिन सैंपलिंग के मामले में जयपुर के मुकाबले में जोधपुर बहुत आगे है। जोधपुर में जहां अब तक एक लाख 95 हजार 444 टेस्ट हुए हैं, वहीं जयपुर में एक लाख 38 हजार 60 जांचें ही हुई हैं। यानी जोधपुर से 57,384 टेस्ट कम। जोधपुर की जबदस्त सैंपलिंग का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यहां जुलाई के 14 दिनों में ही 54,372 सैंपल की जांच हो चुकी है। जिसमें 1258 रोगी मिलने से कुल संक्रमितों का आंकड़ा जयपुर से आगे निकल गया।

पहले 1000 मरीज 58 दिन में, अब 9 दिन में ही सामने आ रहे

जुलाई के पिछले नाै दिन जाेधपुर के लिए सबसे खतरे वाले रहे। इन नाै दिनाें में ही शहर में 1000 नए मरीज मिल गए, जिनमें से सात दिन 100 से ज्यादा मरीज मिले। इस बीच कोरोना ने 23 लाेगाें की जान भी ले ली। शहर में पहला मरीज 21 मार्च काे मिला था। मरीजाें का आंकड़ा 1000 तक पहुंचने में 58 दिन लगे थे। 11 जून को 24 दिन में आंकड़ा दो हजार तक पहुंचा था। जबकि 5 जुलाई तक 23 दिन में तीन हजार मरीज हुए थे। 

रिकवरी में इसीलिए जयपुर आगे
जोधपुर में 14 दिनों में 1258 पॉजिटिव सामने आ चुके हैं, जो कुल रोगियों का 31% है। इससे जोधपुर की रिकवरी रेट कम हो गई। शहर में 30 जून तक सिर्फ 387 एक्टिव केस थे, जो 14 दिनों में बढ़कर 1108 हो गए। जयपुर में 3190 मरीज रिकवर हो चुके हैं, जो 79.73% है।

Leave a comment