गंभीर ने की कड़ी निंदा - पाकिस्तान से मेज पर नहीं, युद्ध के मैदान में बात हो

नई दिल्ली : जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर गुरुवार को हुए आतंकी हमले से आहत पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा है कि अब पाकिस्तान के साथ टेबल पर नहीं बल्कि युद्ध के मैदान में बात होनी चाहिए। जम्मू एवं कश्मीर में 1989 में आतंकवाद के सिर उठाने के बाद से हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले में एक आत्मघाती हमलवार ने गुरुवार को पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर अपनी विस्फोटकों से लदी एसयूवी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की बस से टकरा दी और उसमें विस्फोट कर दिया। इस आतंकी हमले में अभी तक 37 जवान शहीद हुए हैं।

गंभीर ने ट्विटर पर लिखा, हां, अलगाववादियों-आतंकियों और पाकिस्तान से बात तो जरूर होनी चाहिए, लेकिन यह बात टेबल पर नहीं बल्कि अब युद्ध के मैदान में होनी चाहिए। अब बस बहुत हुआ। इसके अलावा टीम इंडिया के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग समेत सुरेश रैना, मयंक अग्रवाल, मोहम्मद कैफ, वीवीएस लक्ष्मण और शिखर धवन ने भी इस आंतकी हमले की कड़ी निंदा की है। वीरेंद्र सहवाग ने कहा, वास्तव में जम्मू-कश्मीर में हमारे सीआरपीएफ पर हुए कायरतापूर्ण हमले से काफी दुखीं है। इस हमले में हमारे कई बहादुर जवान शहीद हुए हैं। दर्द को बयां करने के लिए मेरे पास कोई शब्द पर्याप्त नहीं हैं। मैं उन घायल जवानों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।

Leave a comment