चुनाव करीब आते ही लालटेन थामने की लगी होड़

पटना  पिछले साल 26 जनवरी को राजद कार्यालय में विधायक तेजप्रताप यादव के जनता दरबार में कुछ पहलवान आए थे। उस दिन किसी वजह से दरबार नहीं लगा तो तेजप्रताप ने पहलवानों के बीच दंगल करा दिया। कुछ घंटों के लिए राजद कार्यालय अखाड़े में तब्दील हो गया। मामला लोकसभा चुनाव के पहले का था। अब विधानसभा चुनाव आने वाला है तो राजद के रिंग में फिर कई पहलवान उतरना चाह रहे हैं। कई उतर चुके हैं। कई लाइन में भी हैं।

जगदानंद सिंह के राजद के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद से राजद का प्रदेश कार्यालय रोज गुलजार रहता है। दूसरे दलों के कई नेता मेजबान बनने की जुगत में मेहमान बनकर चक्कर लगा रहे हैं। 

लोकसभा चुनाव के पहले वरिष्ठ समाजवादी नेता शरद यादव और पूर्व सांसद अर्जुन राय सरीखे कई नेता राजद के सहारे मैदान में आए। यह अलग बात है कि उनमें से कोई भी संसद के दरवाजे तक नहीं पहुंच पाए।

Leave a comment