CM ने संभाली कमान तो निकला समाधान

दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड कंपनी (डीएचएफएल) में भविष्य निधि का पैसा फंसने के बाद से परेशान बिजलीकर्मियों के लिए बड़ी राहत. सरकार ने पीएफ भुगतान की गारंटी ले ली है. वहीं सीएम योगी के इस मामले की कमान संभालने के बाद ही समाधान निकल आया. सरकार ने संबंधित आदेश जारी कर दिया. अब डीएचएफएल में अटका पीएफ का पैसा अगर न आ पाया और पावर कार्पोरेशन भी भुगतान करने में सक्षम न रहा. तो सरकार उसे ब्याज रहित ऋण देकर बिजलीकर्मियों का भुगतान सुनिश्चित करेगी. आपको बता दें कि डीएचएफएल में भविष्य निधि का 2268 करोड़ रुपया फंसने के बाद से बिजली कर्मी आंदोलित थे. वह आशंकित थे कि कंपनी से पैसे की वापसी न हो सकी, तो हजारों करोड़ रुपये का घाटा झेल रहा पावर कार्पोरेशन कैसे भुगतान करेगा. कर्मचारियों की मांग थी कि मुख्यमंत्री योगी खुद इस मामले में हस्तक्षेप करें. सरकार भुगतान की गारंटी ले. गत दिवस सीएम योगी ने ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा और अधिकारियों के साथ बैठक कर. सभी विकल्पों पर विचार-विमर्श कर ऊर्जा मंत्री ने संबंधित बिजली कर्मचारी संगठनों के साथ वार्ता की.

Leave a comment