एपल की मुश्किलें बढ़ीं , ट्रंप ने चीन से पार्ट्स खरीदने पर कड़ा कदम उठाने की चेतावनी दी

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने टेक जाइंट एपल की मुश्किलें बढ़ाने वाला कदम उठाया है. एपल के सीईओ टिम कुक को चेतावनी देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अगर कंपनी मैक प्रो कम्प्यूटर के पार्ट चीन में बनाएगी तो उसे आयात शुल्क में छूट नहीं मिलेगी. डोनल्ड ट्रंप ने यह चेतावनी ट्वीट कर दी.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्वीट कर कहा, "एप्पल को मैक प्रो के चीन में बनने वाले पार्ट्स पर आयात शुल्क में छूट नहीं दी जाएगी. इन्हें अमेरिका में बनाएं, फिर इन पर कोई शुल्क नहीं लगेगा." अमेरिका और चीन के बीच जारी व्यापार युद्ध के बावजूद एप्पल कथित तौर पर अपने नए लॉन्च हुए मैक प्रो डेस्कटॉप कम्प्यूटर का उत्पादन चीन में करने की योजनी बना रही है.

वॉल स्ट्रीट जर्नल के अनुसार, टेक कंपनी ने ताइवान के क्वांटा कम्प्यूटर इंक को 6,000 डॉलर के डेस्कटॉप कम्प्यूटर के निर्माण के संबंध में बात की है और शंघाई के पास एक फैक्टरी में उत्पादन की तैयारी कर रही है. ट्रंप कुक को इसका उत्पादन चीन से अमेरिकी स्थानांतरित करने को कहते रहे हैं. ट्रंप के इस ट्वीट के बाद एपल के शेयर्स में गिरावट भी देखने को मिली.


हुवावे पर लग चुका है बैन

बता दें कि ट्रंप राष्ट्रपति बनने के बाद से ही चीन की तकनीक और उसके प्रोडक्ट के विरोधी रहे हैं. ट्रंप ने चीन की बड़ी कंपनियों में से एक हुवावे को भी अमेरिका में 5G तकनीक बचने से बैन कर दिया था. इतना ही नहीं ट्रंप ने साफ किया है जो भी अमेरिकी कंपनी चीन की कंपनियों के साथ मिलकर काम करेगी वह उसके खिलाफ कड़ा कदम उठाएंगे.

ट्रंप के बैन के बाद गूगल ने भी हुवावे से अपना एंड्रायड सपोर्ट वापस ले लिया है. भविष्य में हुवावे के स्मार्टफोन में गूगल और उसके ऐप्स का सपोर्ट नहीं मिलेगा. हालांकि हुवावे के पहले से उपलब्ध स्मार्टफोन पर गूगल के अपडेट्स मिलते रहेंगे.

Leave a comment