विश्व रिकॉर्ड: एक ही दिन में शौचालय के लिए खोद डाले 1.10 लाख गड्ढे

बिहार के सीतामढ़ी के डीएम डॉ. रणजीत कुमार ने ड्रॉप आउट बच्चों का नामांकन स्कूलों में कराने को लेकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के बाद सोमवार को खुले में शौच मुक्ति अभियान के तहत एक और विश्व रिकार्ड बनाने का दावा किया है. इसके तहत जिले के 17 प्रखंडों में एक दिन में कुल 1.10 लाख शौचालयों के लिए गड्ढे खोदे गए

बता दें कि यह अभियान सुबह 9 बजे से जिले के विभिन्न प्रखंडों में शुरू हुआ, जो शाम पांच बजे तक चला. अभियान को लेकर जिला प्रशासन की ओर से गिनीज बुक और लिमका बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए पूर्व में ही प्रस्ताव भेजा जा चुका है. सीतामढ़ी जिले का ही बेलसंड अनुमंडल है, जिसको पूर्व में ही सूबे के पहले ओडीएफ अनुमंडल घोषित होने का गौरव मिल चुका है. जिसके बाद अब आगामी दस दिनों में इन एक लाख दस हजार ग़ढ्ढों के लिए शौचालय बनाकर सीतामढ़ी को खुले में शौचमुक्त घोषित किया जाएगा.

आपको बता दें कि सीतामढ़ी बिहार का ऐसा पहला जिला बनेगा, जो ओडीएफ घोषित होगा. गढ्ढा खोदो अभियान की शुरुआत डीएम डॉ रणजीत कुमार ने  डुमरा प्रखंड की पुनौरा पूर्वी पंचायत के वार्ड नंबर 11 महादलित बस्ती में गढ्ढा खोदकर किया. इस मौके पर उनके साथ सांसद रामकुमार शर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष उमा देवी, विधायक गायत्री देवी, अमित कुमार टुन्ना आदि भी थे.

शौचालय बनाने के लिए एक दिन में गढ्ढा खोदने का विश्व रिकॉर्ड फिलहाल झारखंड के सिमेडगा जिले के नाम है, जहां 65 हजार गड्ढे एक दिन में खोदे गए थे. इस रिकॉर्ड को सीतामढ़ी जिले में सोमवार को ब्रेक करते हुए 1.10 लाख गढ्ढे खोदे गए. ओडीएफ को लेकर अन्य कई विशेष अभियान जिले में चलाए जा रहे हैं.

शौचालय निर्माण को बढ़ावा देने के लिए सेल्फी विथ टॉयलेट की भी शुरुआत प्रशासन की ओर से की गई है. सभी युवक-युवतियों से शौचालय के साथ सेल्फी भेजने को कहा गया है. अच्छी सेल्फी भेजने वाले को जिला प्रशासन सम्मानित भी करेगा. यही नही स्कूलों में रॉल कॉल द्वारा प्रचार-प्रसार किया जा रहा है.

बता दे कि डीएम डॉ. रणजीत कुमार को स्वच्छता के लिए इसके पूर्व गुजरात में महात्मा गांधी स्वच्छता पुरस्कार, राज्य स्वच्छता पुरस्कार और स्वच्छता दर्पण पुरस्कार मिल चुका है. अपने पूर्व के पदस्थापित जिले नर्मदा को पूरे देश में सबसे पहले खुले में शौच मुक्त घोषित करने वर्ल्ड रिकॉर्ड भी इनके नाम है.

 

Leave a comment