हर काम में होना है सफल, तो भूलकर भी ना करें ऐसे 5 काम

गरुड़ पुराण में बहुत सारी ऐसी बातें बताई गई है जिनका पालन करने से व्यक्ति के मान-सम्मान, सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है। गरुड़ पुराण के अनुसार व्यक्ति को 5 तरह के काम को नहीं करना चाहिए। जो व्यक्ति इन कामों को करते हैं उनके जीवन में परेशानियां बढ़ जाती हैं और वो जीवन में सुख नहीं प्राप्त कर पाते हैं। 

अगली स्लाइड्स में जानते हैं वो 5 काम।

  • कई लोगों के स्वभाव में किसी व्यक्ति को दान देने या पैसे उधार बांटने की आदत होती हैं। ऐसे लोग कम आय होने पर भी दूसरों को दान या पैसे देते रहते हैं। इस स्वभाव के लोग हमेशा दुखी रहते हैं। किसी व्यक्ति को अपनी क्षमता से ज्यादा किसी को दान नहीं देना चाहिए।
  • जिन व्यक्तियों के पास पैसों की कोई कमी नहीं होती है, लेकिन वे हमेशा कंजूस बने रहते हैं उन्हें कभी भी समाज में मान सम्मान नहीं मिलता। शास्त्रों में कहा गया है कि व्यक्ति को हमेशा अपने सामर्थ्य के अनुसार ही दान करना चाहिए।
  • जिन माता-पिता के संस्कारी संतान नहीं होते हैं उन्हें अपनी संतान की वजह से समाज में अपमानित होना पड़ सकता है। ऐसे में माता-पिता को अपनी संतान को अच्छे संस्कार की शिक्षा देनी चाहिए ताकि समाज में मान-सम्मान मिलता रहे।
  • जो व्यक्ति गलत लोगों की संगत में रहते हैं उन्हें कभी भी मान सम्मान नहीं मिलता है। इसलिए कभी भी बुरे आचारण करने वाले और अधर्मी लोगों की संगत में नहीं बैठना चाहिए। 
  • जो व्यक्ति दूसरों का बुरा सोचता हो उसे कभी भी समाज में मान-सम्मान नहीं मिलता है। गरुड़ पुराण में कहा गया है कि अपने फायदे के लिए दूसरों का नुकसान नहीं करना चाहिए।

Leave a comment