महाराष्ट्र में अभी रार बाकी

महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी सरकार में अब तक मंत्रालयों का बंटवारा नहीं हो सका है. जहां माना जा रहा है कि डिप्टी सीएम के पद को लेकर पेच फंसा हुआ है. वहीं इसके अलावा उद्धव सरकार में शामिल कांग्रेस कुछ खास मंत्रालय अपने पास रखना चाहती है. इस पर भी तीनों दलों में आम सहमति नहीं बन पाई है. शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस किसी तरह के असंतोष को एक सुर में खारिज कर रहे हैं. हालांकि, सूत्रों का कहना है कि पूरा पेच डिप्टी सीएम के पद को लेकर फंसा हुआ है. इसी के चलते मंत्रालयों का बंटवारा नहीं हो सका है. कांग्रेस ने कुछ महत्वपूर्ण मंत्रालयों की मांग की है. गौरतलब है कि कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि शिवसेना गृह और शहरी विकास मंत्रालय अपने पास रखना चाहती है. जबकि गठबंधन सरकार में शामिल दूसरी सबसे पार्टी एनसीपी सिंचाई, आवास, और वित्त मंत्रालय की मांग कर रही है. दरअसल कांग्रेस राजस्व, ऊर्जा, शिक्षा और पीडब्ल्यूडी जैसे अहम मंत्रालय चाहती है। 

Leave a comment