प्याज के जमाखोरों पर शिकंजा

प्याज की बढ़ती कीमतों से नागरिकों को राहत दिलाने के लिए राज्य सरकार ने जहां प्रदेशभर में सस्ती दरों के बिक्री केंद्र खोले हैं. तो वहीं प्याज के जमाखोरों पर भी शिकंजा कसा जा रहा है. जहां इसके लिए योगी सरकार ने 30 नवंबर तक प्याज की भंडारण सीमा लागू करते हुए. थोक व्यापारियों के लिए 50 मीट्रिक टन और फुटकर व्यापारियों के लिए 10 मीट्रिक टन की अधिकतम मात्रा तय कर दी है. वहीं खाद्य आयुक्त ने बताया कि प्याज की जमाखोरी व मुनाफाखोरी रोकने तथा बढ़ते मूल्य पर अंकुश लगाने, के लिए सभी जिलाधिकारियों को टीमें गठित कर संदिग्ध जगहों पर छापे डालने के निर्देश दिए हैं. उन्हें यह देखने को कहा गया है कि उनके क्षेत्र में कोई थोक या फुटकर व्यापारी निर्धारित सीमा से अधिक प्याज जमा न करने पाए. सभी जिलों में जिलाधिकारियों के निर्देशन में खाद्य एवं रसद, मंडी समिति व उद्यान विभाग के अधिकारियों की टीम प्याज के आढ़तियों व थोक व्यापारियों के यहां छापे डाल रही है.

Leave a comment