रोहित के बिना फ्लॉप हुई ओपनिंग, वनडे के बाद अब टेस्ट में भी खुली पोल

न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में 0-3 की शर्मनाक हार झेलने के बाद टीम इंडिया इसकी भरपाई टेस्ट सीरीज में करना चाहती है, लेकिन ओपनिंग जोड़ी के एक बार फिर फ्लॉप होने से टीम इंडिया के टॉप ऑर्डर की पोल खुल गई.

पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल की अनुभवहीन जोड़ी के फेल होने के बाद मिडिल ऑर्डर पर दबाव पड़ रहा है. न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में भारत ने अपना पहला विकेट 16 रन के स्कोर पर ही गंवा दिया था. पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल की ओपनिंग जोड़ी वनडे के बाद टेस्ट मैचों में भी बेदम साबित हुई है. स्टार ओपनिंग बल्लेबाज रोहित शर्मा चोट के कारण बाहर हैं. वहीं केएल राहुल को शानदार फॉर्म में होने के बावजूद टेस्ट टीम में नहीं चुना गया. टेस्ट सीरीज में ओपनिंग जोड़ी को लेकर टीम इंडिया के सामने बड़ा सवाल है. टीम मैनेजमेंट ने पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल की अनुभवहीन जोड़ी को वनडे के बाद टेस्ट मैचों में भी ओपनिंग का जिम्मा दिया, जो अच्छी शुरुआत नहीं दे पा रहे हैं. सबसे चौंकाने वाला फैसला शानदार फॉर्म में चल रहे केएल राहुल को टेस्ट टीम में नहीं चुना जाना रहा. न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया में कोई भी अनुभवी ओपनर नहीं है. टेस्ट टीम में न तो रोहित शर्मा हैं और न ही केएल राहुल. भारत की टेस्ट टीम में पृथ्वी शॉ, मयंक अग्रवाल और शुभमन गिल को बतौर ओपनर शामिल किया गया है,  लेकिन ये तीनों ही बल्लेबाज अनुभवहीन हैं. केएल राहुल अगर टेस्ट टीम में होते तो एक अनुभवी ओपनर के खेलने से टीम इंडिया को मजबूती मिलती. बेसिन रिजर्व की तेज और उछालभरी पिच पर भारतीय टीम के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाज टिक नहीं सके और पहले टेस्ट के पहले दिन न्यूजीलैंड ने काइल जैमीसन की शानदार गेंदबाजी की मदद से भारत के पांच विकेट 122 रन पर उखाड़ दिए. 

जैमीसन ने फुल लेंथ और शॉर्टपिच गेंदों का मिश्रण फेंका जिसके सामने भारतीय बल्लेबाजों ने आसानी से घुटने टेक दिए. भारत के युवा बल्लेबाजों की तकनीकी कमजोरियों की भी कलई खुल गई. मयंक अग्रवाल ने 84 गेंद में 34 रन बनाए जो लंच के बाद ट्रेंट बोल्ट को पुल शॉट खेलने के प्रयास में आउट हुए. पृथ्वी शॉ (18 गेंद में 16 रन) , चेतेश्वर पुजारा (42 गेंद में 11 रन) और कप्तान कोहली (सात गेंद में दो रन) क्रीज पर टिक ही नहीं सके. युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने बोल्ट को स्क्वेयर कट पर दो चौके लगाए लेकिन कमजोर तकनीक का उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ा. साउदी की गेंद उनके पैड से टकराकर ऑफ स्टम्प पर जा लगी. 

Leave a comment