राजनाथ सिंह समेत 13 वीआईपी की सुरक्षा से हटेंगे एनएसजी कमांडो

गांधी परिवार से एसपीजी कवर वापस लेने और वीआईपी सुरक्षा में व्यापक कटौती के बाद केंद्र सरकार ने एनएसजी कमांडो को पूरी तरह इस काम से हटाने का फैसला किया है। अब रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत 13 वीआईपी हस्तियों को एनएसजी के ‘ब्लैक कैट’ कमांडो सुरक्षा नहीं देंगे। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, करीब दो दशक बाद ऐसा होगा जब एनएसजी कमांडो को वीआईपी सुरक्षा ड्यूटी से हटाया जाएगा। 

वीआईपी सुरक्षा से एनएसजी को हटाने से करीब 450 कमांडो मुक्त हो जाएंगे, जिनका इस्तेमाल देश में बने इनके पांच ठिकानों में इनकी मौजूदगी को और मजबूत करने में किया जाएगा। 1984 में जब एनएसजी का गठन हुआ था, तब वीआईपी ड्यूटी इसके मूल कामों में शामिल नहीं थी। एनएसजी ‘जेड प्लस’ श्रेणी सुरक्षा प्राप्त 13 वीआईपी हस्तियों को सुरक्षा देता है। प्रत्येक के साथ दो दर्जन एनएसजी कमांडो होते हैं। गृहमंत्रालय का मानना है कि एनएसजी को आतंकवाद और विमान अपहरण जैसी गतिविधियों के खिलाफ अभियान के अपने मूल काम पर ध्यान लगाना चाहिए।

Leave a comment